राजन ने राहुल से कहा, वैश्विक अर्थव्यवस्था में भारत के लिए अवसर

Must read

उत्तर कोरिया ने दागी दो अज्ञात मिसाइल : सियोल (लीड-1)

सियोल, 2 मार्च (आईएएनएस)। उत्तर कोरिया ने सोमवार को पूर्वी सागर में छोटी दूरी की दो अज्ञात मिसाइल (प्रोजेक्टाइल) दागीं। दक्षिण कोरिया के ज्वाइंट...

मैंने जितने बल्लेबाज देखे उनमें धोनी सबसे ताकतवर : ग्रैग चैपल

सिडनी, 13 मई (आईएएनएस)। भारतीय टीम के पूर्व कोच ग्रैग चैपल ने कहा कि उन्होंने अभी तक जितने भी बल्लेबाज देखे हैं उनमें से...

नोरा फतेही के स्ट्रीट डांसर 3डी में हेयरस्टाइल पर खर्च हुए 2.5 लाख रुपये

मुंबई, 24 जनवरी (आईएएनएस)। अभिनेत्री नोरा फतेही ने फिल्म स्ट्रीट डांसर 3डी के गाने गर्मी से सच में माहौल में गर्मी ला दी है।...

‘‘कारगिल विजय दिवस‘‘ शहीदों की स्मृति में सीमा सुरक्षा बल ने कराई दौड़

जेाधपुर। फ्रंटियर मुख्यालय राजस्थान, सीमा सुरक्षा बल, जोधपुर द्वारा भारतीय सेना के जवानों एवं सीमा प्रहरियों द्वारा ‘‘ कारगिल युद्ध‘‘ में वीरता पूर्वक किये...
- Advertisement -

नई दिल्ली, 30 अप्रैल (आईएएनएस)। कांग्रेस पार्टी के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी द्वारा शुरू की गई पहली वीडियो वार्ता श्रंखला में भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआई) के पूर्व गवर्नर रघुराम राजन ने कहा कि भारत के पास कोरोना महामारी के बाद वैश्विक अर्थव्यवस्था में संवाद को आकार देने का एक मौका है।

राजन ने कहा, भारत के पास संवाद को आकार देने में अवसर है। उस संवाद में एक नेता से अधिक होना है, क्योंकि यह दो बड़े विरोधी पक्षों में से नहीं है। बल्कि यह एक काफी बड़ा देश है, जिसकी आवाज वैश्विक अर्थव्यवस्था में सुनी जाएगी।

- Advertisement -

उन्होंने कहा कि भारत अपने उद्योगों के लिए, अपनी आपूर्ति श्रंखलाओं के लिए अवसर पा सकता है। लेकिन सबसे महत्वपूर्ण बात यह कि हमें संवाद को इस तरह का आकार देने की कोशिश करनी चाहिए कि वैश्विक व्यवस्था में, यानी किसी एकल या किसी द्विध्रुवीय वैश्विक व्यवस्था के बदले एक बहुध्रुवीय वैश्विक व्यवसिा में अधिक से अधिक देशों के लिए महत्वपूर्ण स्थान हो।

जब राहुल गांधी ने पूछा कि क्या भारत महामारी के कारण पैदा हुई स्थिति का फायदा उठा सकता है? इस पर राजन ने आगाह किया और कहा, इस तरह की घटनाओं का आम तौर पर किसी देश के लिए शायद ही सकारात्मक असर होता है, लेकिन कुछ तरीकों से देशों को लाभ हो सकता है। मुझे लगता है कि इस स्थिति से बाहर आने के बाद वैश्विक अर्थव्यवस्था में हर चीज को लेकर एक पुनर्विचार होगा।

जब राहुल गांधी ने पूछा कि क्या सत्ता के केंद्रीकरण का संकट है? तो राजन ने जवाब दिया, मैं मानता हूं कि विकेंद्रीकरण महत्वपूर्ण है, दोनों लिहाज से – काम के लिए अधिक से अधिक स्थानीय सूचनाओं को हासिल करने और जनता को सशक्त करने के लिहाज से भी। पूरी दुनिया में निशक्तीकरण की एक गहरी भावना दिखाई दे रही है।

–आईएएनएस

- Advertisement -

Latest article

बीकानेर से मेड़ता रोड स्पेेशल ट्रेन, जोधपुर-हावड़ा स्पेशल रेल सेवा शुरू

बीकानेर(Bikaner News)। बीकानेर से हावड़ा (Bikaner to Howrah Train) जाने के लिए अब मेड़ता रोड़ से सीधी रेल सेवा मिल (Merta Road to Bikaner...

आवासन मण्डल का बडा तोहफा : कर्मचारियों के लिए लॉंच होगी मुख्यमंत्री राज्य कर्मचारी आवासीय योजना

जयपुर के प्रताप नगर में बनेंगे 2 व 3 बीएचके साइज के 624 फलैट्स जयपुर(Jaipur News)। आवासन (Rajasthan Housing Board scheme) आयुक्त पवन अरोड़ा ने...

अब इस योजना में बैंकों से 90 प्रतिशत तक मिलेगी ऋण सुविधा, ऋण चुकाने पर 30 प्रतिशत सब्सिडी

देशी नस्ल के गौवंश की डेयरी स्थापना के लिए मिलेगा ऋण जयपुर। जिला कलक्टर एवं जिला गौपालन समिति के अध्यक्ष डॉ.जोगाराम ने बताया कि ‘‘कामधेनू...

बीकानेर : राजीव गांधी पंचायती राज संगठन का ‘काम मांगो’अभियान प्रारम्भ

पहले दिन 71 ग्रामीणों ने किया आवेदन तथा 37 ने मांगा काम बीकानेर। राजीव गांधी पंचायती राज संगठन (Rajiv Gandhi Panchyatraj Organization) का ‘काम मांगो’...

Rajasthan Weather Alert : राजस्थान में निसर्ग का असर, 20 जिलों में भारी बारिश की चेतावनी

जयपुर। महाराष्ट्र (Maharashtra)और गुजरात (Gujarat) की और आ रहे हाई स्पीड साईक्लोन निसर्ग (Cyclone Nisarga) का असर अब राजस्थान (Rajasthan) में भी देखने को...