राम मंदिर के लिए जमीन का समतलीकरण तेज, जेसीबी से खोदाई में निकल रहीं खंडित मूर्तियां

Must read

इतिहास में पहली बार पॉप ने अकेले मनाया होली वीक

वेटिकन सिटी, 6 अप्रैल (आईएएनएस) कोरोनोवायरस महामारी के कारण पोप फ्रांसिस ने पहली बार यहां के सेंट पीटर्स बेसिलिका में अकेले ही पाम संडे...

एयू फाइनेंस स्माल फाइनेंस बैंक लाएगा इक्विटी शेयर

-28 जून को खुलेगा निर्मम, 30 जून को होगा बंद  -प्राइस बैंड 355 से 358 रुपये प्रति इक्विटी शेयर तय जयपुर। एयू स्मॉल फाइनेंस बैंक लिमिटेड...

ऋषि कपूर के निधन पर CM नीतीश ने जताया शोक

पटना, 30 अप्रैल (आईएएनरएस)। बॉलीवुड के एवरग्रीन अभिनेता माने जाने वाले ऋषि कपूर (Bollywood Actor Rishi Kapoor)के निधन पर बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार(Bihar...

पीबीएल-5 : चेन्नई को हराकर नार्थईस्टर्न वॉरियर्स फाइनल में

हैदराबाद, 7 फरवरी (आईएएनएस)। नार्थइस्टर्न वॉरियर्स ने शुक्रवार को प्रीमियर बैडमिंटन लीग (पीबीएल) के पांचवें सीजन में यहां जीएमसी बालायोगी स्टेडियम में खेले गए...
- Advertisement -

नई दिल्ली, 20 मई(आईएएनएस)। अयोध्या में भगवान राम के मंदिर निर्माण के लिए श्री राम जन्मभूमि मंदिर परिसर में भूमि का समतीकरण कार्य चल रहा है। जेसीबी से जमीन की खोदाई और समलतीकरण के दौरान देवी-देवताओं की खंडित मूर्तियां और तमाम पुरावशेष मिल रहे हैं। यह जानकारी विश्व हिंदू परिषद के राष्ट्रीय प्रवक्ता विनोद बंसल ने बुधवार को आईएएनएस को दी है।

विहिप के राष्ट्रीय प्रवक्ता विनोद बंसल ने बताया, अयोध्या के डीएम की अनुमति के बाद श्री राम जन्मभूमि तीर्थक्षेत्र ट्रस्ट की ओर से श्री राम जन्मभूमि परिसर में भावी मंदिर के निर्माण के लिए भूमि के समतलीकरण और पुराने गैंगवे( संकरे रास्ते) को हटाने का कार्य चल रहा है। कोरोना के कारण लॉकडाउन होने के कारण सोशल डिस्टैंसिंग का पालन करते हुए मंदिर परिसर में कार्य चल रहा है। तीन जेसीबी, एक क्रेन, दो ट्रैक्टर और दस मजदूर इस कार्य में लगे हैं।

- Advertisement -

विहिप प्रवक्ता विनोद बंसल ने बताया कि पिछले 11 मई से राम मंदिर परिसर में भूमि का समतलीकरण कार्य चल रहा है। इस दौरान काफी संख्या में पुरावशेष और देवी-देवताओं की खंडित मूर्तियां मिलने का सिलसिला शुरू हुआ है। इसके अलावा प्राचीन पुष्प कलश, आमलक आदि कलाकृतियां, मेहराब के पत्थर, ब्लैक टच स्टोन के सात स्तंभ, रेड सैंड स्टोन के छह स्तंभ, पांच फिट आकार की नक्काशीकृत शिवलिंग की आकृति अब तक प्राप्त हुई है।

विनोद बंसल ने बताया कि समतलीकरण से पहले भी उच्च न्यायालय के आदेश पर खोदाई हुई थी। उस दौरान भी तमाम पुरावशेष प्राप्त हुए थे। मगर, 11 मई से जब जेसीबी और क्रेन लगाकर राम मंदिर के निर्माण की दिशा में भूमि का समतलीकरण शुरू हुआ तो फिर से पुरावशेष प्राप्त होने लगे हैं। सभी पुरावशेषों को सहेज कर रखा जा रहा है।

–आईएएनएस

- Advertisement -

Latest article

राजसमन्द : नरेगा में कृषि कार्यों को सम्मिलित करने से जिंसों की लागत मूल्य में कमी आएगी- सांसद दीया कुमारी

राजसमन्द। सांसद दिया कुमारी ने दिल्ली में केंद्रीय कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर से मिलकर किसानों के कल्याण हेतु विभिन्न मुद्दों पर चर्चा करते...

श्रीडूंगरगढ़ः लॉकडाउन में विमल भाटी मालजी परिवार ने दो माह का किराया माफ कर पेश की मानवता की मिसाल

बीकानेर। देशभर में कोरोना महामारी के बीच आमजन के सामने रोजी रोटी का संकट पैदा हो रहा है। इसी बीच जिले के श्रीडूंगरगढ़ में...

मेाबाइल यूजर के लिए बड़ी खबरः अब जी भरकर भेज सकेंगे मैसेज, फ्री SMS की लिमिट खत्म

नई दिल्ली। मेाबाइल उपभोक्ताओं के लिए भारतीय दूरसंचार नियामक प्राधिकरण (ट्राई) (The Telecom Regulatory Authority of India) ने बड़ी सौगात दी है। जिसमें वे...

बीकानेर से मेड़ता रोड स्पेेशल ट्रेन, जोधपुर-हावड़ा स्पेशल रेल सेवा शुरू

बीकानेर(Bikaner News)। बीकानेर से हावड़ा (Bikaner to Howrah Train) जाने के लिए अब मेड़ता रोड़ से सीधी रेल सेवा मिल (Merta Road to Bikaner...

आवासन मण्डल का बडा तोहफा : कर्मचारियों के लिए लॉंच होगी मुख्यमंत्री राज्य कर्मचारी आवासीय योजना

जयपुर के प्रताप नगर में बनेंगे 2 व 3 बीएचके साइज के 624 फलैट्स जयपुर(Jaipur News)। आवासन (Rajasthan Housing Board scheme) आयुक्त पवन अरोड़ा ने...