Thursday, July 9, 2020

दिल्ली में डोर टू डोर सर्वे पर गृह मंत्रालय की रोक

Must read

हुबेई में 9 अस्थायी अस्पताल खोले गए

वुहान, 15 फरवरी (आईएएनएस)। कोरोनोवायरस से संक्रमित रोगियों के इलाज के लिए चीन के हुबेई प्रांत में 6,960 से अधिक बेड वाले नौ अस्थायी...

जियो को टक्कर देगा एयरटेल का कॉम्बो पैक

नई दिल्ली। जियो को टक्कर देने के लिए एयरटेल ने एक और कॉम्बो पैक पेश किया है। एयरटेल के 97 रुपये वाले प्रीपेड कॉम्बो...

दिल्ली में अगले 2 दिनों में दोगुनी कोरोना जांच होगी

नई दिल्ली, 14 जून (आईएएनएस)। दिल्ली में कोरोनावायरस के बढ़ते मामलों के बीच केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने कहा है कि अगले दो...

कोविड-19 : एसीए ने खिलाड़ियों के लिए जारी किया इमरजेंसी फंड

मेलबर्न, 8 अप्रैल (आईएएनएस)। कोरोनावायरस के कारण बने हालात में आस्ट्रेलिया के क्रिकेट खिलाड़ियों को सरकार की मदद नहीं मिल पा रही है। ऐसे...
Vishal Rohiwal
Vishal Rohiwal
विशाल रोहिवाल पिछले दस वर्ष से कंटेट राईटिंग व स्वतंत्र पत्रकार के रुप में काम कर रहें है। वर्तमान में हैलो राजस्थान की वेब टीम में सीनियर कंटेंट एडिटर के रुप में अपनी सेवांए दे रहें है।
- Advertisement -

नई दिल्ली, 29 जून (आईएएनएस)। केंद्रीय गृह मंत्रालय ने दिल्ली में कोरोना की जांच के लिए शुरू की गई डोर टू डोर स्क्रीनिंग पर रोक लगा दी है। इससे पहले दिल्ली सरकार ने पूरे शहर में डोर-टू- डोर स्क्रीनिंग करने के लिए कहा था। इसके तहत छह जुलाई तक लगभग 35 लाख घरों की स्क्रीनिंग होनी थी।

केंद्रीय गृह मंत्रालय ने दिल्ली में कोरोनावायरस के लिए की जा रही डोर-टू-डोर स्क्रीनिंग पर रोक लगा दी है। यह निर्णय इसलिए लिया गया है, ताकि स्क्रीनिंग की कार्रवाई प्राथमिकता से कंटेनमेंट जोन में की जा सके।

- Advertisement -

दिल्ली में कोरोनावायरस की स्क्रीनिंग को लेकर दिल्ली सरकार ने हर जिले में 100 टीमें बनाई हैं। 11 जिलों में कुल 1100 टीमें डोर-टू-डोर स्क्रीनिंग कर रही हैं। ये टीम घर-घर जाकर सर्वे का काम करती हैं। छह जुलाई तक सर्वे की प्रक्रिया को पूरी की जानी थी।

हर टीम एकत्र की गई सभी जानकारियां ऑनलाइन ऑन द स्पॉट भेजती हैं। सर्वे टीम द्वारा भेजी गई यह जानकारी दिल्ली सरकार की वेबसाइट पर अपलोड किए जाने के बाद प्रदर्शित की जाएगी। इसके लिए एक विशेष एप भी तैयार किया गया है।

केंद्रीय गृह मंत्रालय ने अब दिल्ली के हर इलाके में चल रही यह डोर-टू-डोर स्क्रीनिंग को रोकने का फैसला किया है। यह फैसला इसलिए किया गया है, ताकि कंटेनमेंट जोन वाले इलाके को प्राथमिकता दिया जा सके।

सोमवार शाम दिल्ली सरकार द्वारा जारी कोरोना बुलेटिन में कहा गया है, दिल्ली में कंटेनमेंट जोन की संख्या बढ़कर 435 हो चुकी है। इसके साथ ही दिल्ली में कोरोना संक्रमित व्यक्तियों की कुल संख्या 85,161 हो गई है।

- Advertisement -

दरअसल, गृह मंत्रालय अब इन्हीं 435 कंटेनमेंट जोन पर फोकस करने की रणनीति बना रहा है। इसी रणनीति के अंतर्गत इन सभी 435 कंटेनमेंट जोन प्राथमिकता के आधार पर कोरोना की गहन जांच की जाएगी।

–आईएएनएस

- Advertisement -

Latest article

बिहार में बाढ़ की आशंका को लेकर अलर्ट, बचाव के लिए होगा ड्रोन का उपयोग

पटना, 8 जुलाई (आईएएनएस)। बिहार में बाढ़ की आशंका को देखते हुए मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने आपदा प्रबंधन विभाग को पूरी तरह अलर्ट रहने...

रीवा के सौर ऊर्जा संयंत्र से दिल्ली मेट्रो को मिलेगी बिजली

भोपाल, 8 जुलाई (आईएएनएस)। मध्य प्रदेश के रीवा जिले में स्थापित एशिया के सबसे बड़े सौर ऊर्जा संयंत्र रीवा अल्ट्रा मेगा सोलर प्रोजेक्ट की...

कानपुर मुठभेड़ पर बोले एडीजी प्रशांत, पुलिस की कार्रवाई बनेगी नज़ीर

लखनऊ 8 जुलाई (आईएएनएस)। कानपुर के चौबेपुर के बिकरू गांव मे उत्तर प्रदेश पुलिस के सीओ सहित आठ पुलिसकर्मियों की हत्या के बाद...

कभी कभी कड़वा घूंट पीकर करनी पड़ती है समाज सेवा : विजयवर्गीय

भोपाल/इंदौर 8 जुलाई (आईएएनएस)। भाजपा के राष्ट्रीय महासचिव कैलाश विजयवर्गीय ने कांग्रेस छोड़कर भाजपा में आए नेताओं के साथ काम करने का जिक्र करते...

पहले एलएसी तक पहुंचने में 14 दिन लगते थे, अब महज 1 दिन : लद्दाख स्काउट्स (आईएएनएस एक्सक्लूसिव)

लेह, 8 जुलाई (आईएएनएस)। वर्ष 1962 में जहां भारतीय सेना को वास्तविक नियंत्रण रेखा (एलएसी) तक पहुंचने में 16 से 18 दिन का समय...