Tuesday, July 14, 2020

चीनी ऐप्स पर प्रतिबंध से चिंतित शी सरकार

Must read

महिला हॉकी : रानी की बदौलत भारत ने ओलंपिक चैंपियन ब्रिटेन को हराया

ऑकलैंड, 4 फरवरी (आईएएनएस)। कप्तान रानी रामपाल के एकमात्र विजयी गोल की मदद से भारतीय महिला हॉकी टीम ने न्यूजीलैंड दौरे के अपने चौथे...

अपने वर्कआउट प्लान मैं खुद बनाती हूं : कटरीना कैफ

नई दिल्ली, 28 फरवरी (आईएएनएस)। फिटनेस आइकॉन और 36 साल की उम्र में कई लोगों को प्रेरणा देने वाली अभिनेत्री कैटरीना कैफ का कहना...

शाहिद ने मीरा के लिए बनाए पैनकेक

मुंबई, 29 मार्च (आईएएनएस)। बॉलीवुड अभिनेता शाहिद कपूर लॉकडाउन में अपने घर में रहकर खाने-पीने की तमाम चीजें बनाकर अपना समय खाली समय बिता...

केरल में अवैध शराब बनाने के आरोप में 7 गिरफ्तार

अलाप्पुझा (केरल) 4 अप्रैल (आईएएनएस)। लॉकडाउन के कारण केरल में ताड़ी समेत सभी शराब दुकानों के बंद होने के कारण यहां के कुछ उद्यमी...
Vishal Rohiwal
Vishal Rohiwal
विशाल रोहिवाल पिछले दस वर्ष से कंटेट राईटिंग व स्वतंत्र पत्रकार के रुप में काम कर रहें है। वर्तमान में हैलो राजस्थान की वेब टीम में सीनियर कंटेंट एडिटर के रुप में अपनी सेवांए दे रहें है।
- Advertisement -

नई दिल्ली, 30 जून (आईएएनएस)। भारत की ओर से टिकटॉक और वीचैट जैसे लोकप्रिय चीनी मोबाइल एप्लिकेशन पर प्रतिबंध लगाए जाने के बाद मंगलवार को चीन की प्रतिक्रिया सामने आई है। चीन के विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता ने कहा है कि इससे हम काफी चिंतित हैं।

एक दैनिक समाचार ब्रीफिंग के दौरान मंगलवार को चीनी विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता झाओ लिजियन ने बीजिंग में संवाददाताओं से कहा, चीन भारतीय पक्ष द्वारा जारी प्रासंगिक नोटिस के बारे में चिंतित है। हम स्थिति की जांच और आकलन कर रहे हैं।

- Advertisement -

झाओ ने कहा, हम इस बात पर जोर देना चाहते हैं कि चीनी सरकार हमेशा चीनी व्यवसायों को अंतरराष्ट्रीय और स्थानीय कानूनों और विनियमों का पालन करने के लिए कहती है।

इसके साथ ही उन्होंने कहा कि भारत की चीनी निवेशकों के कानूनी अधिकारों को बनाए रखने की जिम्मेदारी है।

लद्दाख में वास्तविक नियंत्रण रेखा (एलएसी) के पास गलवान घाटी में 15 जून की रात चीनी और भारतीय सैनिकों के बीच हुई हिंसक झड़प में 20 भारतीय जवान शहीद हो गए थे। इसके दो सप्ताह बाद ही अब भारत ने सोमवार को 50 चीनी मोबाइल ऐप्स पर प्रतिबंध लगा दिया है।

सूचना एवं प्रौद्योगिकी मंत्रालय की ओर से जारी बयान के अनुसार, सरकार ने उन 59 मोबाइल एप्स को प्रतिबंधित किया है, जो भारत की संप्रभुता और अखंडता, भारत की रक्षा, राज्य की सुरक्षा और सार्वजनिक व्यवस्था के लिए खतरनाक थे।

- Advertisement -

बीजिंग के हिंसक स्वभाव और आक्रामक मुद्रा के बाद से भारत में चीनी कम्युनिस्ट पार्टी (सीसीपी) शासन के खिलाफ काफी रोष और गुस्सा देखने को मिला है। यही वजह है कि चीनी ऐप्स पर प्रतिबंध लग जाने के बाद काफी लोगों ने सोशल मीडिया पर इस फैसले का स्वागत किया है।

–आईएएनएस

- Advertisement -

Latest article

राहुल ने इंस्टाग्राम पर साझा की भावनात्मक पोस्ट

नई दिल्ली, 14 जुलाई (आईएएनएस)। कोरोना वायरस महामारी के कारण भारतीय क्रिकेट टीम अभी भी मैदान से दूर है और भारतीय बल्लेबाज लोकेश राहुल...

ईस्ट बंगाल को 10 दिनों में मालिकाना हक की जानकारी देने का अल्टीमेटम

कोलकाता, 14 जुलाई (आईएएनएस)। अखिल भारतीय फुटबाल महासंघ (एआईएफएफ) ने देश के बड़े फुटबाल क्लब ईस्ट बंगाल को क्लब के मालिकाना हक को लेकर...

शेयर बाजार में भारी गिरावट, सेंसेक्स 660 अंक गिरा (राउंडअप)

मुंबई, 14 जुलाई (आईएएनएस)। देश के शेयर बाजारों में सप्ताह के दूसरे कारोबारी दिन यानी मंगलवार को गिरावट का रुख रहा। प्रमुख संवेदी सूचकांक...

केरल में कोरोना के रिकार्ड 608 नए मामले

तिरुवनंतपुरम, 14 जुलाई (आईएएनएस)। केरल में मंगलवार को कोरोना संक्रमण के रिकार्ड 608 नए मामलों की पहचान की गई। इसके साथ राज्य में कोरोना...

एक-तिहाई से अधिक लोगों ने कहा, राजस्थान सरकार गिर जाएगी, भाजपा की वापसी होगी : आईएएनएस-सीवोटर सर्वे

नई दिल्ली, 14 जुलाई (आईएएनएस)। आईएएनएस सीवोटर स्नैप पोल में भाग लेने वाले एक-तिहाई से ज्यादा लोगों का मानना है कि अशोक गहलोत नीत...