Tuesday, July 14, 2020

अनलॉक होने के बाद देश में बढ़ी लापरवाही, अब और सतर्कता दिखाएं : पीएम मोदी (लीड-1)

Must read

जुवेंटस फुटबालर डायबाला की रिपोर्ट चौथी बार पॉजिटिव

तुरिन, 29 अप्रैल (आईएएनएस)। इटालियन क्लब जुवेंटस और अर्जेटीना की राष्ट्रीय टीम के स्टार फुटबालर पाउलो डायबाला का कोरोनावायरस टेस्ट रिपोर्ट पिछले छह सप्ताह...

गुरिंदर चड्ढा की सीरीज सीकर एक भारतीय गुरु के बारे में

नई दिल्ली, 29 जून (आईएएनएस)। फिल्मकार गुरिंदर चड्ढा एक ड्रामा सीरीज को बनाने के काम में जुटी हुई हैं, जो एक भारतीय गुरु के...

राहुल के शब्द उचित नहीं थे, मनमोहन ने इस्तीफा न देकर सही किया : अहलूवालिया

नई दिल्ली, 17 फरवरी (आईएएनएस)। योजना आयोग (अब नीति आयोग) के पूर्व उपाध्यक्ष मोंटेक सिंह अहलूवालिया ने सोमवार को कहा कि 2013 में कांग्रेस...

जयपुर : डेरा अनुयायियों ने लिया प्रदूषण रोकथाम का संकल्प

-धूमधाम से मनाया शाह सतनाम जी का 100वां पवित्र अवतार दिवस जयपुर। डेरा सच्चा सौदा की दूसरे पातशाही पूजनीय परमपिता शाह सतनाम जी महाराज के 100...
Vishal Rohiwal
Vishal Rohiwal
विशाल रोहिवाल पिछले दस वर्ष से कंटेट राईटिंग व स्वतंत्र पत्रकार के रुप में काम कर रहें है। वर्तमान में हैलो राजस्थान की वेब टीम में सीनियर कंटेंट एडिटर के रुप में अपनी सेवांए दे रहें है।
- Advertisement -

नई दिल्ली, 30 जून (आईएएनएस)। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मंगलवार को देश के नाम संबोधन में अनलॉक-1 के बाद से देश में लापरवाही पर चिंता जताई है। उन्होंने कहा है कि जब से लॉकडाउन में ढील मिला तब से व्यक्तिगत और सामाजिक व्यवहार में लापरवाही बढ़ती जा रही है। जबकि और अधिक सावधानी बरतने की जरूरत है।

प्रधानमंत्री ने कहा कि विशेषकर कन्टेनमेंट जोन पर हमें बहुत ध्यान देना होगा। जो भी लोग नियमों का पालन नहीं कर रहे, हमें उन्हें टोकना होगा, रोकना होगा और समझाना भी होगा। उन्होंने कहा कि समय और संवेदनशील फैसलों से संकल्प शक्ति अनेक गुना बढ़ जाती है।

- Advertisement -

पीएम मोदी ने सायं चार बजे से राष्ट्र के नाम संबोधन में कहा कि ये बात सही है कि अगर कोरोना से होने वाली मृत्यु दर को देखें तो दुनिया के अनेक देशों की तुलना में भारत संभली हुई स्थिति में है। समय पर किए गए लॉकडाउन और अन्य फैसलों ने भारत में लाखों लोगों का जीवन बचाया है।

कोरोना वैश्विक महामारी के खिलाफ लड़ते हुए अब हम अनलॉक 2 में प्रवेश कर रहे हैं। और हम उस मौसम में भी प्रवेश कर रहे हैं जहां सर्दी-जुखाम, खांसी-बुखार ये सारे न जाने क्या क्या होता है, के मामले बढ़ जाते हैं।

उन्होंने कहा, जब से देश में अनलॉक हुआ है, व्यक्तिगत और सामाजिक व्यवहार में लापरवाही भी बढती ही चली जा रही है । पहले हम मास्क को लेकर, दो गज की दूरी को लेकर, 20 सेकेंड तक दिन में कई बार हाथ धोने को लेकर बहुत सतर्क थे। लॉकडाउन के दौरान बहुत गंभीरता से नियमों का पालन किया गया था। अब सरकारों को, स्थानीय निकाय की संस्थाओं को, देश के नागरिकों को, फिर से उसी तरह की सतर्कता दिखाने की जरूरत है।

प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि लॉकडाउन के दौरान देश की सर्वोच्च प्राथमिकता रही कि ऐसी स्थिति न आए कि किसी गरीब के घर में चूल्हा न जले। केंद्र सरकार हो, राज्य सरकारें हों, सिविल सोसायटी के लोग हों, सभी ने पूरा प्रयास किया कि इतने बड़े देश में हमारा कोई गरीब भाई-बहन भूखा न सोए।

- Advertisement -

–आईएएनएस

- Advertisement -

Latest article

सर्विलांस टीम की सक्रियता से कोरोना संक्रमण रोका जा सकता है : योगी

लखनऊ , 14 जुलाई (आईएएनएस)। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा है कि स्वच्छता एवं सेनिटाइजेशन के द्वारा न केवल कोविड-19 को...

अफगानिस्तान में 5 अमेरिकी बेस बंद : अधिकारी

काबुल, 14 जुलाई (आईएएनएस)। अमेरिका के एक अधिकारी ने मंगलवार को यहां कहा कि तालिबान के साथ फरवरी में हुए शांति समझौते के अनुपालन...

अलाया एफ ने डांस वीडियो पोस्ट किया

मुंबई, 14 जुलाई (आईएएनएस)। अभिनेत्री अलाया एफ ने अपने सोशल मीडिया पर डांस वीडियो पोस्ट किया है। अभिनेत्री ने मंगलवार को अपने इंस्टाग्राम पर...

उत्तर प्रदेश एनकाउंटर की जांच के लिए पप्पू यादव सर्वोच्च न्यायालय जाएंगे

पटना, 14 जुलाई (आईएएनएस)। जन अधिकार पार्टी के अध्यक्ष पप्पू यादव ने मंगलवार को ब्राह्मण समाज के प्रतिनिधियों से मुलाकात की और उत्तर प्रदेश...

मप्र के ग्रामीण इलाकों में पेयजल सुलभ कराने की कवायद

भोपाल 14 जुलाई (आईएएनएस)। मध्य प्रदेश के ग्रामीण इलाकों की पेयजल व्यवस्था को दुरुस्त करने की रणनीति पर सरकार ने काम करना शुरू किया...