Thursday, July 9, 2020

भूमि पूजन में देरी से बेचैन हो रही है अयोध्या

Must read

पाकिस्तान : सरकार के खिलाफ प्रदर्शन की जेयूआई-एफ की घोषणा

इस्लामाबाद, 10 फरवरी (आईएएनएस)। जमीयत उलेमा-ए-इस्लाम-फजल(जेयूआई-एफ) प्रमुख मौलाना फजलुर रहमान ने इमरान खान नीत सरकार के खिलाफ आने वाले दिनों में लाहौर, कराची और...

प्रवासी मजदूरों ने स्कूली इमारत को वंदे भारत एक्सप्रेस से बदला

भोपाल, 28 जून (आईएएनएस)। कोरोना काल में तरह-तरह के नवाचार हुए हैं और अपने घरों को लौटे प्रवासी मजदूरों ने अपने कौशल और...

राजसमन्द : दुर्घटनाओं में होने वाली जन हानि बर्दाश्त नहीं-सांसद दीयाकुमारी

दुर्घटनाग्रस्त क्षेत्र जेके सर्किल बायपास का किया निरीक्षण राजसमन्द। पिछले दिनों जेके सर्किल फोरलेन बायपास पर दुर्घटना में असमय दिवंगत हुए लोगों के प्रति संवेदना...

आईसीएसआई मना रहा है कैपिटल मार्केट सप्ताह

जयपुर। निवेशकों में जागरुकता पैदा करने तथा पूंजी बाजार में अच्छे प्रशासन को बढ़ावा देने के प्रयास में इन्सटीट्यूट ऑफ कम्पनी सेक्रेटरीज ऑफ इण्डिया...
Vishal Rohiwal
Vishal Rohiwal
विशाल रोहिवाल पिछले दस वर्ष से कंटेट राईटिंग व स्वतंत्र पत्रकार के रुप में काम कर रहें है। वर्तमान में हैलो राजस्थान की वेब टीम में सीनियर कंटेंट एडिटर के रुप में अपनी सेवांए दे रहें है।
- Advertisement -

अयोध्या, 1 जुलाई (आईएएनएस)। प्रस्तावित राम मंदिर के भूमिपूजन को अनिश्चितकाल के लिए स्थगित किए जाने के कारण अयोध्या के संत नाराज हैं।

संत चाहते हैं कि राम मंदिर का काम सावन के महीने में बिना किसी देरी के शुरू हो जाना चाहिए। यह महीना 6 जुलाई से शुरू होकर 3 अगस्त को समाप्त होगा।

- Advertisement -

महंत नृत्य गोपाल दास के उत्तराधिकारी महंत कमल नयन दास ने कहा, हमने प्रधानमंत्री से भूमि पूजन में भाग लेने का अनुरोध किया है। श्री राम जन्मभूमि तीर्थक्षेत्र ट्रस्ट के अध्यक्ष महंत नृत्य गोपाल दास इस संबंध में एक औपचारिक पत्र भी भेज रहे हैं। हम चाहते हैं कि मंदिर का निर्माण सावन के महीने में शुरू हो।

उन्होंने आगे कहा कि संत चाहते हैं कि प्रधानमंत्री कार्यक्रम के लिए यहां आएं, ना कि वर्चुअल तौर पर अपनी उपस्थिति दर्ज करें।

संत चाहते हैं कि मंदिर का उद्घाटन 2022 में राम नवमी के मौके पर हो। संयोग से, यह वही समय होगा जब उत्तर प्रदेश में विधानसभा चुनाव होंगे।

हनुमान गढ़ी के महंत राजू दास और राम मंदिर के मुख्य पुजारी आचार्य सत्येंद्र दास ने कहा कि सभी संत प्रधानमंत्री की उपस्थिति का इंतजार कर रहे थे।

- Advertisement -

उन्होंने आगे कहा, मंदिर का निर्माण अब बिना देरी के शुरू होना चाहिए क्योंकि लोग भव्य मंदिर में भगवान के दर्शन करने की प्रतीक्षा कर रहे हैं।

–आईएएनएस

- Advertisement -

Latest article

राजकुमार राव ने अपनी मन:स्थिति साझा की

मुंबई, 9 जुलाई (आईएएनएस)। बॉलीवुड अभिनेता राजकुमार राव ने अपने नए प्रोजेक्ट को लेकर अपनी मन की स्थिति साझा की है।राजकुमार ने इंस्टाग्राम पर...

मध्य प्रदेश में गद्दार बनाम देशभक्त का नैरेटिव सेट करने में जुटे ज्योतिरादित्य सिंधिया

नई दिल्ली, 9 जुलाई (आईएएनएस)। मध्य प्रदेश में 24 सीटों के उपचुनाव के पहले भाजपा के राज्यसभा सदस्य ज्योतिरादित्य सिंधिया ने आक्रामक कैंपेनिंग शुरू...

फिल्म महोत्सव कशिश में विजेताओं को मिलेगा 1.8 लाख का नकद इनाम

मुंबई, 9 जुलाई (आईएएनएस)। कोविड-19 महामारी के कारण इस साल 22 से 30 जुलाई तक ऑनलाइन आयोजित की गई कशिश मुंबई इंटरनेशनल क्वीर फिल्म...

मोहन बागान का इतिहास एटीके-एमबी की यात्रा का एक अभिन्न हिस्सा

कोलकाता, 9 जुलाई (आईएएनएस)। इंडियन सुपर लीग (आईएसएल) टीम एटीके-मोहन बागान प्राइवेट लिमिटेड के निदेशकों के बीच होने वाली बोर्ड की बैठक के परिणाम...

असम में सुस्मिता देव सहित 14,032 लोग कोरोना संक्रमित

गुवाहाटी/सिलचर, 9 जुलाई (आईएएनएस)। असम में पूर्व कांग्रेस सांसद सुस्मिता देव और जेल में बंद शीर्ष किसान नेता अखिल गोगोई भी कोविड-19 पॉजिटिव पाए...