Monday, July 6, 2020

प्रोफेसर संजय द्विवेदी भारतीय जनसंचार संस्थान के महानिदेशक नियुक्त

Must read

कोविड-19 : पाकिस्तान में बेरोजगार हो सकते हैं 1 करोड़ 85 लाख लोग

इस्लामाबाद, 3 अप्रैल (आईएएनएस)। पाकिस्तान की सरकार ने देश में कोरोनावायरस के बढ़ते प्रकोप के बीच अनुमान लगाया है कि देश में महामारी के...

ईरान फुटबाल लीग फिर से शुरू करने पर फैसला मई में

तेहरान, 19 अप्रैल (आईएएनएस)। ईरान खेल महासंघ के प्रवक्ता ने घोषणा की है कि वह इस बात पर फैसला लेगा कि क्या अगले महीने...

देशद्रोहियों की सात पुश्तें भी असम को हिन्दुस्तान से अलग नहीं कर सकतीं : अमित शाह

रायपुर (छत्तीसगढ़), 28 जनवरी (आईएएनएस)। भाजपा के पूर्व राष्ट्रीय अध्यक्ष और केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने यहां प्रदेश भाजपा कार्यालय में मंगलवार को...

वुहान में हवाई और रेल सेवा की बहाली 8 अप्रैल से

बीजिंग, 5 अप्रैल (आईएएनएस)। चीन के वुहान शहर में रेलवे और वायु सेवा 8 अप्रैल से बहाल हो जाएगी। अब संबंधित तैयारियां चल रही...
Vishal Rohiwal
Vishal Rohiwal
विशाल रोहिवाल पिछले दस वर्ष से कंटेट राईटिंग व स्वतंत्र पत्रकार के रुप में काम कर रहें है। वर्तमान में हैलो राजस्थान की वेब टीम में सीनियर कंटेंट एडिटर के रुप में अपनी सेवांए दे रहें है।
- Advertisement -

नई दिल्ली, 1 जुलाई (आईएएनएस)। प्रोफेसर संजय द्विवेदी को भारतीय जनसंचार संस्थान(आईआईएमसी) का महानिदेशक नियुक्त किया गया है। प्रोफेसर संजय द्विवेदी की नियुक्ति को मंजूरी केंद्र सरकार की अपॉइंटमेंट कमेटी ऑफ कैबिनेट द्वारा की गई है।

प्रोफेसर संजय द्विवेदी को अगले 3 वर्ष तक के लिए भारतीय जनसंचार संस्थान का महानिदेशक नियुक्त किया गया है। कैबिनेट कमेटी द्वारा पारित आदेश में कहा गया है कि यह एक डायरेक्ट नियुक्ति है। इस विषय में सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय को आवश्यक सूचना दी गई है। प्रोफेसर द्विवेदी फिलहाल भोपाल स्थित माखनलाल चतुवेर्दी नेशनल यूनिवर्सिटी आफ जर्नलिज्म एंड कम्युनिकेशन में रजिस्ट्रार के पद पर आसीन थे।

- Advertisement -

नई दिल्ली स्थित भारतीय जनसंचार संस्थान भारत का प्रमुख मीडिया स्कूल है। इसे भारत सरकार के सूचना और प्रसारण मंत्रालय द्वारा संचालित किया जाता है। यह एक स्वायत्तशासी संस्थान है। भारत में जन संचार के प्रशिक्षण, अध्ययन और अनुसंधान के लिए यह एक अग्रणी संस्थान है। इसकी स्थापना 17 अगस्त 1965 में हुई थी।

भारतीय जन संचार संस्थान में प्रिंट मीडिया, फोटो पत्रकारिता, रेडियो पत्रकारिता, टेलीविजन पत्रकारिता, संचार अनुसंधान, विज्ञापन और जन संपर्क सहित तमाम मीडिया विषयों पर प्रशिक्षण दिया जाता है। संस्थान द्वारा एक वर्षीय स्नातकोत्तर डिप्लोमा पाठ्यक्रम चलाये जाते हैं, जिनमें हिंदी व अंग्रेजी भाषा में पत्रकारिता के साथ-साथ विज्ञापन व जन संपर्क, रेडियों व टीवी पत्रकारिता एवं फोटो पत्रकारिता के पाठ्यक्रम शामिल हैं।

–आईएएनएस

- Advertisement -

Latest article

शिवराज मंत्रिमंडल विस्तार के बाद विभाग वितरण पर किच-किच

भोपाल 5 जुलाई (आईएएसएस)। मध्य प्रदेश में लंबी जद्दोजहद के बाद शिवराज सिंह चौहान सरकार के मंत्रिमंडल का दूसरा विस्तार आखिरकार हो ही गया,...

उप्र : पुलिसकर्मियों का हत्यारा और विकास दुबे का साथी गिरफ्तार (लीड-1)

कानपुर, 5 जुलाई (आईएएनएस)। कानपुर पुलिस ने रविवार की सुबह एक संक्षिप्त मुठभेड़ के बाद विकास दुबे गिरोह के एक सदस्य को गिरफ्तार कर...

कोहली पर हितों के टकराव का मामला, गुप्ता ने बीसीसीआई लोकपाल को लिखा

नई दिल्ली, 5 जुलाई (आईएएनएस)। लोढा समिति ने भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) के संविधान को फिर से लागू करते हुए स्पष्ट रूप से...

कार दुर्घटना मामले में श्रीलंकाई क्रिकेटर मेंडिस गिरफ्तार : रिपोर्ट

कोलंबो, 5 जुलाई (आईएएनएस)। श्रीलंका के विकेटकीपर बल्लेबाज कुसल मेंडिस को कार दुर्घटना मामले में रविवार को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया। क्रिकइंफो की...

कोरोना प्रभावित समुदाय की मदद को आगे आईं पेंट कंपनियां

नई दिल्ली, 5 जुलाई (आईएएनएस)। कोविड-19 के कारण अभी भी देश के कई हिस्सों में बंद और प्रतिबंध लागू हैं, जिसका बाजार पर व्यापक...