Thursday, July 9, 2020

कोलकाता का कालीघाट मंदिर 100 दिनों बाद श्रद्धालुओं के लिए खुला

Must read

लिएंडर से कहता हूं, तुम एक साल और खेल सकते हो : वीसे पेस

देबायन मुखर्जीबोग्मालो (गोवा), 14 मार्च (आईएएनएस)। भारत के दिग्गज टेनिस खिलाड़ी लिएंडर पेस के पिता वेस पेस ने कहा है कि वह अपने बेटे...

वार्नर और विलियम्सन की सर्वश्रेष्ठ बल्लेबाजों की सूची में कोहली

सिडनी, 25 अप्रैल (आईएएनएस)। आईपीएल की टीम सनराइजर्स हैदराबाद के दो दिग्गज बल्लेबाजों केन विलियम्सन और डेविड वार्नर ने अपनी सर्वश्रेष्ठ बल्लेबाजों की सूची...

कोविड-19 : नोएडा में 1 नए मामले के साथ कुल संक्रमितों की संख्या 103 हुई

गौतमबुद्ध नगर, 22 अप्रैल (आईएएनएस)। नोएडा में बुधवार को कोरोना के एक नए मामले के साथ गौतमबुद्ध नगर जिले में कोरोना के कुल मामलों...

स्मिथ की कप्तानी का बड़ा प्रशंसक हूं : उनादकट

नई दिल्ली, 21 अप्रैल (आईएएनएस)। भारत के तेज गेंदबाज जयदेव उनादकट ने कहा है कि वह अपने आप को भाग्यशाली मानते हैं कि करियर...
Vishal Rohiwal
Vishal Rohiwal
विशाल रोहिवाल पिछले दस वर्ष से कंटेट राईटिंग व स्वतंत्र पत्रकार के रुप में काम कर रहें है। वर्तमान में हैलो राजस्थान की वेब टीम में सीनियर कंटेंट एडिटर के रुप में अपनी सेवांए दे रहें है।
- Advertisement -

कोलकाता, 1 जुलाई (आईएएनएस)। कोरोनावायरस के कारण लागू लॉकडाउन के चलते लगभग 100 दिनों से बंद कोलकाता का प्रसिद्ध कालीघाट मंदिर श्रद्धालुओं के लिए अंतत: बुधवार को खोल दिया गया।

मंदिर के कपाट सुबह छह बजे खोल दिए गए, जहां भक्तों ने कड़े दिशा-निर्देशों का पालन करके दर्शन किए।

- Advertisement -

कालीघाट मंदिर के सूत्रों के अनुसार, श्रद्धालुओं को मंदिर में प्रवेश करने के लिए थर्मल स्क्रीनिंग के बाद सैनिटाइजिंग टनल से गुजरना होगा। मंदिर के गर्भगृह में प्रवेश वर्जित रहेगा।

मंदिर दो शिफ्ट में खुलेगा। सुबह 6:00 बजे से दोपहर 12:00 बजे तक और फिर शाम 4:00 बजे से 7:00 बजे तक। एक बार में केवल 10 लोगों को मंदिर में प्रवेश की अनुमति दी जाएगी।

सूत्रों ने कहा कि नए नियम अनुसार सभी श्रद्धालुओं को मास्क पहनना अनिवार्य है, कोई भी श्रद्धालु मंदिर के देवता को नहीं छू सकता और न ही परिसर के अंदर प्रसाद बांट सकता है।

कालीघाट एक शक्तिपीठ है। मान्यता के अनुसार मां सती के दाये पैर की कुछ अंगुलिया इसी जगह गिरी थीं। आज यह जगह काली भक्तों के लिए सबसे बड़ा मंदिर है। पश्चिम बंगाल के अलावा देश के कोने-कोने से बड़ी संख्या में यहां श्रद्धालु मां काली के दर्शन-पूजन के लिए आते हैं।

- Advertisement -

–आईएएनएस

- Advertisement -

Latest article

बीकानेर शहर के चार पुलिसथाना क्षेत्र के कुछ हिस्से में धारा 144 लागू

बीकानेर(Bikaner News)। कोरोनावायरस संक्रमण (Corona Virus) के प्रसार को रोकने के लिए अतिरिक्त जिला मजिस्ट्रेट (सिटी) सुनीता चौधरी ने सोमवार को एक आदेश जारी...

नोएडा प्राधिकरण ने 162 ईवी चार्जिग स्टेशन स्थापित करने ईईएसएल के साथ समझौता किया

गौतमबुद्धनगर, 9 जुलाई (आईएएनएस)। नोएडा प्राधिकरण ने शहर में 162 ईवी चार्जिग यूनिट और संबंधित इंफ्रास्ट्रक्च र स्थापित करने के लिए एनर्जी एफिशिएंसी सर्विसेज...

जनवरी तक वन नेशन वन राशन कार्ड से जुड़ जाएंगे सभी राज्य : पासवान

नई दिल्ली, 9 जुलाई (आईएएनएस)। केंद्रीय उपभोक्ता मामले, खाद्य एवं सार्वजनिक वितरण मंत्री राम विलास पासवान ने गुरुवार को कहा कि वन नेशन वन...

उप्र में फिर 3 दिन पूर्णबंदी लागू, आवश्यक सामान की दुकानें खुली रहेंगी

लखनऊ, 9 जुलाई (आईएएनएस)। उत्तर प्रदेश में कोरोना संक्रमण के तेजी से बढ़ रहे मामलों के बीच एक बार फिर से पूर्णबंदी लागू कर...

विकास की गिरफ्तारी से 1 दिन पहले महाकाल थाना प्रभारी का तबादला संयोग या षड्यंत्र? : कांग्रेस नेता

भोपाल/उज्जैन 9 जुलाई (आईएएनएस)। कांग्रेस की मध्य प्रदेश इकाई के वरिष्ठ नेता और ग्वालियर-चंबल संभाग के मीडिया प्रभारी के. के. मिश्रा ने उत्तर प्रदेश...