तंबाकू निषेध के लिये कहीं की समझाईश तो कहीं जुर्माना

गुड़गांव । गुड़गांव पुलिस की पहल पर शहर में तंबाकू नियंत्रण के लिए अभियान चलाकर धूम्रपान एंव तंबाकू बेचने वालों के कोटपा 2003 (सिगरेट और अन्य तंबाकू उत्पाद अधिनियम) में चालान काटकर जुर्माना राशि वसूली गई वंही तंबाकू विक्रेताअेंा के साथ समझाइस कर इससे होने वाली बीमारियेंा के बारे में जानकारी दी गई।3

संबध हैल्थ फाउंडेशन के ट्रस्टी संजय सेठ ने बताया कि सहायक पुलिस आयुक्त हवा सिंह के नेतृत्व में वायस ऑफ टोबेको विक्टिमस, संबध हैल्थ फाउंडेशन, फोर्टिस मेमोरियल रिसर्च इंस्टीटयूट व गुड़गांव पुलिस टीम ने संयुक्त कार्यवाही में अब तक 17 चालान डीएलएफ फेज प्रथम, सदर बाजार मे चालान काटकर 3400 रुपये का जुर्माना वसूला। इस टीम के द्वारा 18 वर्ष से कम उम्र के बच्चों के द्वारा जिन स्थानों पर तंबाकू बेचा जा रहा था उनके परिजनेां केा समझाया गया। इन स्थानों पर पान व धूम्रपान विक्रय स्थलों पर 18 वर्ष से कम उम्र के बच्चों केा इस प्रकार के उत्पाद बेचे जा रहे थे, उन दुकान मालिकेां को कोटपा एक्ट का हवाला देकर समझाया गया। भविष्य में उन्हे दुबारा नाबालिगों के द्वारा इस प्रकार के उत्पादों के विक्रय पर करने पर कानूनी कार्यवाही की चेतावनी भी दी गई। वंही टीम ने शहर के विभिन्न हिस्सों में स्थित तंबाकू व अन्य धूम्रपान उत्पाद बेचने वाली दुकानेंा पर दबिश देकर चालान की कार्यवाही की। इस दौरान विक्रेताअेंा को केाटपा कानून, खुली सिगरेट,तंबाकू उत्पादों को नही बेचने की सलाह दी व इन उत्पादों से होने वाली हानियों के बारे में बताया गया।4

उन्होने बताया कि युवा वर्ग,धूम्रपान न करने वालों को बचाने के लिए सरकारी व गैर सरकारी शिक्षण संस्थाअेा के आसपास,धूम्रपान व तंबाकू उत्पादों  की बिक्री को कानूनी रुप से रोकने के लिए इस प्रकार के अभियान कारगर साबित होंगे। इसके साथ ही बिना वैधानिक चेतावनी के तंबाकू उत्पादांे की बिक्री करने वालों की संख्या में कमी आएगी। टीम में गुड़गांव पुलिस के अधिकारी सत्यदेव, विरेंद्र सिंह, संबध हैल्थ फाउडेशन व फोर्टिस मेमोरियल रिसर्च इंस्टीटयूट टीम के प्रेाजेक्ट मैनेजर हिना शेख, प्रमोद कुमार शामिल थे।

क्या है कोटपा अधिनियम

इस अधिनियम के तहत सार्वजनिक स्थान का तात्पर्य ऐसे किसी स्थान से है, जहां लोगों का आना जाना हो। इसमें स्टेडियम, पब्लिक पार्क एवं बस स्टाप जैसे खुले स्थान भी शामिल हैं। इन सार्वजनिक स्थानों पर धूम्रपान निषेध है तथा इन स्थानों पर वैधानिक चेतावनी होना आवश्यक है अन्यथा उस स्थान के मालिक या मेनेजर पर 200 रुपये तक जुर्माना लगाकर कार्यवाही की जा सकती है।

केाटपा अधिनियम 6अ

समस्त तंबाकू विक्रय स्थलों पर नाबालिगों केा अथवा नाबालिगों द्वारा तंबाकू न बेचने की वैधानिक चेतावनी।

अधिनियम 6 ब

सभी शिक्षण संस्थाअेंा से 100 गज की दूरी में तंबाकू उत्पादों की बिक्री निषेध एवं वैधानिक चेतावनी का प्रदर्शन।

यह जुर्माना

सार्वजनिक स्थल,महाविद्यालय परिसर के अंदर व चारदीवारी के सौ गज के दायरे में किसी भी प्रकार के तंबाकू उत्पादों की बिक्री या सेवन करते पाए जाने पर कोटपा कानून के तहत 200 रुपये तक का जुर्माना किया जा सकता है।