नागरिकता संशोधन कानून को जल्दबाजी में लाया गया: मुख्यमंत्री अशोक गहलोत

Citizenship Amendment Act brought in haste:CM Ashok Gehlot,

उदयपुर। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कहा कि नागरिकता संशोधन कानून (Citizenship Amendment Act)को जल्दबाजी में लाया गया है। इसकी आड़ में नरेंद्र मोदी और भारतीय जनता पार्टी, हिन्दू-मुस्लिम के धु्रवीकरण की राजनीति करना चाह रहे हैं लेकिन यह चाल सफल नहीं होने वाली है। भाजपा के लोग खुद गलतफहमियां पैदा कर रहे हैं और वे कह रहे कि कांग्रेस इस कानून का विरोध कर रही है। हम तो यह बता रहे हैं कि इस कानून में हुए संशोधन से सभी को तकलीफ होने वाली है। उसमें चाहे हिंदू हो या मुस्लिम, सीख हो या ईसाई, फारसी हो या जैन।

उन्होने कहा कि यह कानून बनाने से पहले ना तो देशवासियों की भावना को समझा गया और ना ही विपक्ष की पार्टियों से कोई बात की गई। उन्होंने कहा कि क्या मोदी नोटबंदी की तरह लोगों को फिर से लाइनों में खड़ा कराना चाहते हैं। नोटबंदी में तो चलो नोट बदलवा दिए लेकिन अब माता-पिता के प्रमाण पत्र, उनका जन्म कहां हुआ, तारीख क्या है इसके प्रमाण पत्र कहां से लाएंगे? मोदी से पूछना चाहता हूं कि देश में कई जातियां जो घुमक्कड़ हैं, उन लोग का क्या होगा? उनके माता पिता के जन्म का प्रमाण पत्र कहां से मिलेंगे?

अमेजन इंडिया पर आज का शानदार ऑफर देखें , घर बैठे सामान मंगवाए  : Click Here

www.hellorajasthan.com से जुड़े सभी अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.