पंजाब में वापसी करेंगे, राजस्थान के लिए तैयार हैं : पायलट

जयपुर। राजस्थान प्रदेश कांग्रेस कमेटी के  अध्यक्ष सचिन पायलट ने कहा है कि तीन-चार माह बाद पंजाब में होने जा रहे विधानसभा चुनाव में कांग्रेस वापसी करने वाली है। राजस्थान में भी हम वापसी करने को तैयार हैं। कांग्रेस के पक्ष में पूरे प्रदेश में माहौल बन रहा है। समय बहुत कम है। 20-21 माह बाद राजस्थान में चुनाव की घोषणा हो जायेगी। इसलिए कार्यकर्ताओं को एकजुट होकर अभी से जुटना होगा। श्रीगंगानगर जिले के दो दिवसीय दौरे की मंगलवार सुबह शुरूआत करते हुए सचिन पायलट ने यह दावा किया। जिलाध्यक्ष संतोष सहारण के फार्म हाऊस पर सचिन पायलट ने कहा कि उत्तर प्रदेश में राहुल गांधी ने लगभग साढ़े 4 हजार किलोमीटर की किसान यात्रा की है। इस यात्रा के भी कांगे्रस के पक्ष में बेहद सार्थक परिणाम रहेंगे। इसके बाद सचिन पायलट ने जिले में आयोजित जनसभाओं में कहा कि प्रदेश और देश के अन्य राज्यों में कांग्रेस की स्थिति पहले के मुकाबले सुदृढ़ हो रही है। नि:सन्देह पार्टी हर जगह मजबूती से वापसी करेगी। पंजाब का जिक्रकरते हुए उन्होंने कहा कि वे दावे से कह सकते हैं कि विधानसभा चुनाव में कांग्रेस की सरकार बनने वाली है। राजस्थान के लिए उन्होंने कार्यकर्ताओं से कहा कि वे अभी से अपनी कमर कस लें। एकजुट होकर पार्टी के

लिए काम करें। वक्त 20-21 महीने का बचा है। इसके बाद चुनाव की घोषणा हो जायेगी। इतने कम वक्त में बहुत काम करना है, जिसके लिए सब कुछ पूरी ताकत के साथ झौंकना होगा। सचिन पायलट ने जहां प्रदेश में कांग्रेस संगठन की मजबूती को बनाये रखने ही नहीं, बल्कि उसे और सुदृढ़ंता प्रदान करने के लिए कार्यकर्ताओं को एक सूत्र में बंधने का संदेश दिया, वहीं उन्होंने केन्द्र और प्रदेश की भाजपा सरकारों को उनकी गलत नीतियों के लिए जमकर कौसा भी। राजस्थान की भाजपा सरकार पर बरसते हुए पायलट ने कहा कि इस सरकार ने अनेक महत्वपूर्ण सेवाओं-सुविधाओं का पीपीपी मोड के नाम पर निजीकरण कर एक तरह से आफत मोल ले ली है। चिकित्सा हो या शिक्षा,यह सरकार निजीकरण को बढ़ावा देने में लगी है। अस्पतालों में डॉक्टर और दवाएं नहीं है। शिक्षण संस्थाओं में शिक्षकों का अभाव है। यह आफत इस सरकार को आने वाले चुनाव में महंगी पड़ेगी। जनता इनसे तंग आ गई है।