वार्नर गेंद को चमकाने के लिए लार पर प्रतिबंध लगाने के खिलाफ

Must read

विजग गैस लीक कांड में मृतकों की संख्या 12 हुई

विशाखापत्तनम, 8 मई (आईएएनएस)। आंध्र प्रदेश के विशाखापत्तनम गुरुवार को एक प्लांट से रासायनिक गैस लीक होने की घटना में मरने वालों की संख्या...

कोरोनावायरस को लेकर केरल में 806 लोग निगरानी में

तिरुवनंतपुरम, 29 जनवरी (आईएएनएस)। राज्य की स्वास्थ्य मंत्री के.के.शैलजा ने बुधवार को कहा कि केरल में 806 लोगों को संदिग्ध कोरोनावायरस को लेकर निगरानी...

कहानी सबसे ज्यादा मायने रखती है : प्रभास

मुंबई, 22 अप्रैल (आईएएनएस)। बाहुबली स्टार प्रभास किसी प्रोजेक्ट का चयन करते समय बेहतरीन कहानी की तलाश करते हैं और उनका कहना है कि...

युवक कांग्रेस ने आम बजट के खिलाफ प्रतीकात्मक प्रदर्शन किया

नई दिल्ली, 1 फरवरी (आईएएनएस)। युवक कांग्रेस ने मौजूदा आर्थिक स्थिति और वर्ष 2020-21 के लिए भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) की सरकार द्वारा पेश...
- Advertisement -

मेलबर्न, 30 अप्रैल (आईएएनएस)। कोरोनावायरस संकट के बीच क्रिकेट बॉल को लार से चकमाने को लेकर लगातार चर्चा हो रही है और अब इसमें आस्ट्रेलिया के सलामी बल्लेबाज डेविड वार्नर ने भी अपनी राय दी है।

वार्नर ने गेंद पर लार (सलाइवा) के इस्तेमाल का समर्थन किया है और कहा है यह एक परंपरागत अभ्यास है जोकि सैकड़ों वर्षों से चला आ रहा है और इसे आगे भी जारी रहना चाहिए।

- Advertisement -

वार्नर ने क्रिकेट डॉट कॉम डॉट एयू से कहा, आप चेंज रूम साझा कर रहे हैं। आप सब कुछ साझा कर रहे हैं। मुझे समझ नहीं आ रहा कि तो फिर आप इसे क्यों बदलना चाहते हैं।

उन्होंने कहा, यह सैकड़ों वर्षों से चला आ रहा है और मुझे अभी तक कुछ ऐसा याद नही कि कोई लार (सलाइवा) लगाने से बीमार पड़ गया हो।

वार्नर ने कहा, मुझे पता है कि इस विषय पर मेरा टिप्पणी करने का कोई मतलब नहीं है क्योंकि यह आईसीसी पर निर्भर है।

कोविड-19 के बाद जब क्रिकेट की वापसी होगी तो ऐसा माना जा रहा है कि गेंदबाज अपनी गेंद को खुद की लार से चमका नहीं पाएंगे। ऐसा कोरोनावायरस के खतरे को देखते हुए किया जा सकता है।

- Advertisement -

क्रिकइंफो की रिपोर्ट के अनुसार, अधिकारी अंपायरों की निगरानी में गेंद को चमकाने के लिए आर्टीफीशियल प्रोडक्ट के इस्तेमाल की अनुमति देने के विकल्प पर विचार कर रहे हैं।

इससे पहले, वेस्टइंडीज के महान तेज गेंदबाज माइकल होल्डिंग ने कोरोनावायरस से बचने के लिए बॉल टेम्परिंग को मान्यता देने के सुझाव पर सवाल खड़े किए थे।

होल्डिंग को लगता है कि इस बात के पीछे कुछ तर्क नहीं है, क्योंकि खिलाड़ी वैसे ही सुरक्षा को ध्यान में रखकर खेलेंगे और ऐसे में लार का गेंद पर उपयोग करना मुद्दा नहीं होना चाहिए।

होल्डिंग ने ईएसपीएनक्रिकइंफो से कहा था, मैंने पढ़ा है कि आईसीसी कोरोनावायरस के कारण खिलड़ियों को गेंद को चमकाने के लिए लार का उपयोग करने से रोकने पर बात कर रही है। मैं इसके पीछे का तर्क नहीं समझ पा रहा हूं।

- Advertisement -

– – आईएएनएस

- Advertisement -

Latest article

वैश्विक सहयोग से ही कोविड-19 महामारी का खात्मा होगा

बीजिंग, 31 मई (आईएएनएस)। पिछले कुछ महीनों में दुनिया की तस्वीर बदल गयी है। क्योंकि अधिकांश देश कोविड-19 महामारी से जूझ रहे हैं और...

जम्मू-कश्मीर में एलओसी पर पाकिस्तान की तरफ से फिर गोलाबारी

जम्मू, 31 मई (आईएएनएस)। जम्मू एवं कश्मीर में शनिवार की शाम नियंत्रण रेखा (एलओसी) पर पाकिस्तानी सेना ने संघर्ष विराम का उल्लंघन करते हुए...

कोविड-19 : भारत में 1.82 लाख से अधिक मामले, 5164 मौतें

नई दिल्ली, 31 मई (आईएएनएस)। भारत में कोरोनावायरस महामारी से संक्रमति लोगों का आंकड़ा रविवार को बढ़कर 1.82 लाख से अधिक हो गया है,...

विश्व तंबाकू निषध दिवस पर विशेष : मध्यप्रदेश में तंबाकू बनता है हर साल 90 हजार लोगों की मौत का कारण

भोपाल। मध्यप्रदेश में तंबाकू (Madhyapradesh Tobacco) की बढ़ती लत कई गंभीर बीमारियों का कारण बनती जा रही है। राज्य में हर साल लगभग एक...

फिर से खबरों में आया बरेली का कपल, पति को भेजा गया जेल

बरेली (उप्र), 31 मई (आईएएनएस)। बरेली के दंपति ने पिछले साल जुलाई में तब सुर्खियां बटोरी थीं, जब उन्होंने उप्र में लड़की के पिता...