शास्त्री एंड कंपनी एनसीए के प्रशिक्षकों के साथ अपना अनुभव साझा करेगी

Must read

विशाखापट्टनम में नौसेना ने कोरोना योद्धाओं को सलाम किया

विशाखापट्टनम , 3 मई (आईएएनएस)। भारतीय नौसेना ने रविवार को विशाखापट्टनम में गवर्नमेंट हॉस्पिटल फॉर चेस्ट एंड कम्युनिकेबल डिजीज और जीआईटीएएम अस्पताल के...

न्यूजीलैंड के पूर्व क्रिकेटर जॉक एडवर्डस का निधन

वेलिंग्टन, 6 अप्रैल (आईएएनएस)। न्यूजीलैंड के पूर्व विकेटकीपर बल्लेबाज जॉक एडवर्डस का 64 साल की उम्र में सोमवार को निधन हो गया। सेंट्रल डिस्ट्रिक्ट...

बीकानेर पहुंची शहीद की पार्थिव देह, नम आंखेां से पुष्पांजलि अर्पित

बीकानेर। जम्मू-कश्मीर में रविवार को आतंकियों के खिलाफ वर्ष 2018 की सबसे बड़ी कार्रवाई को शोपियां और अनंतनाग में अंजाम दिया गया इस दौरान...

चीन 54 देशों को चिकित्सा सामग्रियों का निर्यात करेगा

बीजिंग, 5 अप्रैल (आईएएनएस)। चीनी वाणिज्य मंत्रालय के मुताबिक, चीन चिकित्सा सामग्रियों के निर्यात को सीमित नहीं करेगा। 4 अप्रैल तक चीन ने 54...
- Advertisement -

बाइदुरजो बोस

नई दिल्ली, 30 अप्रैल (आईएएनएस)। कोरोनावायरस के कारण पूरा विश्व इस समय रुका हुआ सा है, ऐसे में बीसीसीआई ने यह सुनिश्चित किया है कि राष्ट्रीय टीम का कोचिंग स्टाफ रवि शास्त्री, भरत अरुण, विक्रम राठौर और आर. श्रीधर राष्ट्रीय क्रिकेट अकादमी (एनसीए) के प्रशिक्षकों के संपर्क में रहें और उनसे अपना अनुभव साझा करते रहें।

- Advertisement -

इस मामले पर क्रिकेट संचालन के जीएम सबा करीम ने आईएएनएस से कहा है कि यह विचार एनसीए के मुखिया राहुल द्रविड़ के पास से आया जिसका मकसद जानकारी और अनुभव को साझा करना था।

उन्होंने कहा, यह विचार राहुल द्रविड़ के दिमाग की उपज है। यह अच्छी बात है कि हमारे सभी राष्ट्रीय प्रशिक्षक इसमें शामिल हो रहे हैं और यह भारतीय क्रिकेट के लिए अच्छी बात है। सिर्फ प्रशिक्षक नहीं बल्कि प्रशासन को भी सामने आए इस मुश्किल समय में एक मंच पर आना चाहिए।

उन्होंने कहा, राष्ट्रीय टीम से लेकर अंडर-19 टीम तक जितने प्रशिक्षक हैं उनके बीच सब कुछ अच्छे से चलना चाहिए। इससे बेहतर उर्जा और विचारों का आदान प्रदान होगा जिससे एक ही दिशा में आगे जा सकेंगे।

भारतीय टीम मुख्यत: सफर करती रहती है ऐसे में यह काफी अजीब समय है जब टीम मैदान पर नहीं घरों में है। और शास्त्री जैसे शख्स के अनुभव का उपयोग करना भारतीय टीम के भविष्य के लिए काफी अच्छा होगा। बीसीसीआई अध्यक्ष सौरव गांगुली ने पहले ही कह दिया है कि उनकी टीम एनसीए में बदलाव लाने के बारे में सोच रही है ताकि यह खिलाड़ियों के लिए प्राथमिकता बन सके।

- Advertisement -

द्रविड़ पहले से ही एनसीए में कामकाज देख रहे हैं और राष्ट्रीय टीम का कोचिंग स्टाफ एनसीए के स्टाफ से बात कर अपना अनुभव साझा करे और वो प्रक्रिया बताए जो सीनियर टीम में मानी जाती है, इससे बेहतर कुछ नहीं हो सकता।

कोच शास्त्री और गेंदबाजी कोच भरत अरुण के रहते भारतीय टीम एक मजबूत गेंदबाजी ईकाई बनी है। साथ ही टीम का फील्डिंग का स्तर भी बेहतर हुआ है।

–आईएएनएस

- Advertisement -

Latest article

राजस्थान : कोरोना में मसीहा बने करौली विधायक लाखनसिंह, निजी खर्चे से बांटी राशन सामग्री

- कोरोनाकाल में 10 लाख रुपये का 500 क्विंटल आटा, जरूरतमंद गरीब परिवारों में बांटा - कोविड़-19 वायरस से बचाव के लिए गांवों में जन...

राजगढ़ पुलिस थानाधिकारी विष्णुदत बिश्नेाई मामले की होगी सीबीआई जांच

गहलोत सरकार ने लिया बड़ा फैसला जयपुर। प्रदेश के चुरू जिले के राजगढ़ पुलिसथानाधिकारी विष्णुदत्त विश्नोई (Rajgarh police officer Vishnu dutt)आत्महत्या मामले में स्वतंत्र एजेन्सी/सीबीआई...

बीकानेर : छब्बीस साल बाद किसानों को फिर पढ़ सकेंगे ‘मरु कृषक’

कुलपति प्रो. आर. पी. सिंह ने किया ई-संस्करण का विमोचन बीकानेर(Bikaner News)। स्वामी केशवानंद राजस्थान कृषि विश्वविद्यालय (Swami Keshwanand Rajasthan Agricultural University) के कुलपति प्रो....

लॉकडाउन में बेरोजगार हुए लोगों को मिले पूरा वेतन: युवा कांग्रेस

पटना। युवा कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष ललन कुमार ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से आग्रह किया कि उन्होंने राष्ट्र के नाम अपने संबोधन में अपील...

बीकानेर: सेरूणा पुलिसथानाधिकारी गुलाम नबी की हार्ट अटैक से मौत

बीकानेर(Bikaner News)। जिले के सेरुणा पुलिसथानाधिकारी (Seruna  Police Station SHO) की सेामवार सुबह हार्ट अटैक (Heart Attack) से मौत हेा गई। जिला पुलिस अधीक्षक...