सीए अब यूनिक आईडी से सत्यापित करेंगे सर्टिफिकेट, 1 जुलाई से सम्पूर्ण भारत में अनिवार्य

SMS Hospital, SMS Hospital Rajasthan, SMS Hospital Contact Number, GGovernment Office in Jaipur, Government Jobs, Rajasthan government News, Administrative Reforms, Chief Minister News, Rajasthan Police Jobs, How to apply in Police Jobs, Best business plan , Latest market news, Chief Minister Rajasthan Number, Rajasthan CM Ashok Gehlot Mobile Number, Rajasthan CM Ashok Gehlot Latest News, Rajasthan CM Ashok Gehlot Family History, Jaipur News, Jaipur Breaking News, Jaipur Hindi News, Rajasthan Ke News, Rajasthan Hindi News, India Hindi News, National today news, Today trending news, Today news, Google Latest News, Google Breaking news, Google News, Latest news, India latest news, ताजा खबर, मुख्य समाचार, बड़ी खबरें, आज की ताजा खबरें,

जयपुर। देशभर में सभी कर्मचारी, बैंकर, क्लाइयंट व हित धारकों को ध्यान केंद्रित करते हुए एक महत्वपूर्ण सूचना की चार्टर्ड अकाउंटेंट के नाम पर अब फर्जी सर्टिफिकेट जारी करना संभव नहीं हो सकेगा। इस तरह का सर्टिफिकेट जारी करने वाले आसानी से पकड़ में आ जाएंगे। इसके लिए आईसीएआई ने नया नियम बनाया है, जो की 1जुलाई से सम्पूर्ण भारत में अनिवार्य हो जाएगा। यह मामला बैंक दस्तावेज सहित किसी भी तरह के वो दस्तावेज, जो सीए से सत्यापित करवाकर संबंधित के यहां पेश करने होते हैं।

चूंकि सीए का पहले से ही आईसीएआई में रजिस्ट्रेशन होता है, लेकिन अब सत्यापित प्रमाण-पत्र जारी करने के लिए अलग से प्रत्येक चार्टर्ड अकाउंटेंट को रजिस्ट्रेशन करवाना होगा। फिर हर दस्तावेज के लिए यूनिक आईडी के जरिए सत्यापित किया जाएगा। देशभर में इन दिनों कुछ फर्जी सर्टिफिकेट जारी होने के मामले सामने आए हैं। इससे सीए पेशे की छवि को नुकसान होता है। इस वजह से यह फैसला लिया है। इससे चार्टर्ड अकाउंटेंट के नाम पर फर्जी सर्टिफिकेट जारी होना रुक सकेगा। ऐसे सर्टिफिकेट जारी करने वाले पकड़ में आ जाएंगे।

CA Will be certified by the Unique id, Unique id, certified by the Unique id, CA NEWS, How to file return, How to file tax, Viral Hindi News, Rajasthan Hindi News, Rajasthan latest story, latest news ,Latest Hindi News, Latest india news, India hindi news,नए नियम के मुताबिक प्रत्येक चार्टर्ड अकाउंटेंट को रजिस्ट्रेशन कराना होगा। फिर प्रत्येक सर्टिफिकेट जारी करने पर यूनिक डॉक्यूमेंट आइडेंटिफिकेशन नंबर(यूडीआईएन) देना होगा।

पूर्व सीआईआरसी सदस्य सीए रोहित रूवाटिया ने बताया कि यूनिक आईडी के दो फायदे, पहला फायदा सीए को होगा, जिसके दस्तावेज को सत्यापित किया या फिर सर्टिफिकेट जारी किया है, उसका डाटा स्टोर हो जाएगा। उसी व्यक्ति के नाम दूसरी बार कुछ सत्यापित होने पर नाम दिखेगा। कौनसा दस्तावेज कब, किसको, किस उद्देश्य के लिए जारी किया है इसकी जानकारी पोर्टल पर रहेगी। इसी तरह बैंक या कोई सरकारी संस्था अगर किसी दस्तावेज की सत्यता जानना चाहे तो उसी पोर्टल पर जाकर जानकारी ले सकती है। उसे सिर्फ यूनिक आईडी डालनी होगी और सीए के नाम आ जाएगा।

 

www.hellorajasthan.com की ख़बरें फेसबुकट्वीटर और सोशल मीडिया पर पाने के लिए हमें Follow करें