महापुरुषों का सद् गुण है धैर्य – गिरी बापू

महापुरुषों का सद् गुण है धैर्य - गिरी बापू 1बीकानेर भगवान श्री कृष्ण और श्रीराम के पास जो अथाह शक्ति थी, जो बल था वह महादेव की भक्ति से प्राप्त हुआ जिसके बल पर उन्होंने असाधारण कार्य कर अधर्म पर विजय हासिल की, पापियाे का नाश किया इसलिए बल की प्राप्ती चाहने वालों को महादेव की पूजा करनी चाहिए यह उद्गार संत गिरी बापू महाराज ने व्यक्त किये। मंगलवार को मुरली मनोहर मैदान स्थित पूर्णेश्वर महादेव मंदिर में चल रहे श्री शिव महापुराण कथा के तीसरे दिन उन्होंने कहा की संसार में जिमहापुरुषों का सद् गुण है धैर्य - गिरी बापू 2तने भी देवी देवताओं  और. मुनियों को महादेव की भक्ति से ही तप का फल मिला इसिलिये किसी भी देवीदेवता की आराधना करो लेकिन साथ में महादेव की आराधना जरुर करना देवीदेवताओं की आराधना का फल शिव की उपासना से मिलता है,जो महादेव की आराधना नहीं करता उसका फल उसे नहीं मिलता गिरी बापू ने कहा महापुरुषों का सद् गुण धैर्य होता है और यह शिव की उपासना से ही मिलता है

उन्होंने वृद्ध अवस्था को सुधारने के लिये संध्या के समय उपासना और सोमवार को व्रत करने की बात पंडाल में मौजूद  महिलाओं पुरुष भक्तों से कही कथा का रसपान करने के लिये दूर दराज के क्षेत्रों से भक्त कथा स्थल पहुंचे रात में भक्ति संगीत संध्या हुई जिसमें गायक कलाकार जितेन्द्र सारस्वत ने पूर्णेश्वर महादेव के मनमोहक भजन प्रस्तुत किये