उत्तराखंड में राष्ट्रपति शासन

pppनई दिल्ली। केन्द्र ने रविवार को ‘‘शासन की नाकामी’’ के आधार पर उत्तराखंड में राष्ट्रपति शासन लगााने का ऐलान कर दिया। प्रदेश में सत्तारूढ़ कांग्रेस में दरार के बीच राजनीतिक संकट पैदा हो गया जिसके बाद यह विवादित फैसला किया गया।
राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी ने केन्द्रीय कैबिनेट की सिफारिश पर संविधान के अनुच्छेद 356 के तहत उद्घोषणा पर हस्ताक्षर करते हुए हरीश रावत के नेतृत्व वाली कांग्रेस सरकार को बख्रास्त किया और विधानसभा को निलंबित कर दिया।
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अध्यक्षता में कल रात यहां कैबिनेट की आपातकालीन बैठक हुई। प्रधानमंत्री इस अह्म बैठक में शामिल होने के लिए असम की यात्रा बीच में छोड़कर आए थे। कैबिनेट ने राज्यपाल के.के. पॉल से मिली कई रिपोर्ट पर विचार किया। जिसमें उन्होंने राजनीतिक स्थिति को अस्थिर बताया और राज्य विधानसभा में कल प्रस्तावित शक्ति परीक्षण में हंगामा होने की संभावना पर चिंता जताई थी।