राजस्थान बना देश में बायोफ्यूल पॉलिसी लागू करने वाला प्रथम राज्य

Google Latest news, Google breaking news, Hindi News, National today news, Today trending news, Today news, Latest news, India latest news, ताजा खबर, मुख्य समाचार, बड़ी खबरें, आज की ताजा खबरें, Rajasthan becomes the first state, biofuel policy in Rajasthan, biofuel policy in Rajasthan latest news, biofuel latest news, biofuel viral video, how to use biofuel, biofuel rate, biofuel kaise sasta hai, biofuel vs Diesel, biofuel vs Petrol, Rajasthan becomes the first state in the country to implement biofuel policy
जयपुर। उप मुख्यमंत्री सचिन पायलट ने कहा है कि राज्य सरकार द्वारा बायोफ्यूल के उपयोग को बढ़ावा देने की नई सोच के साथ, विश्व की बेहतरीन प्रेक्टिसेज से प्रेरित होकर राज्य बायोफ्यूल नियम-2019 जारी किए जाने के साथ ही प्रदेश मेें नई बायोफ्यूल क्रान्ति का सूत्रपात हो गया है। श्री पायलट शुक्रवार को यहां शास्त्रीनगर स्थित साइंस पार्क के सभागार में विश्व जैव ईंधन दिवस के उपलक्ष्य में आयोजित राज्य स्तरीय समारोह में ‘‘राज्य बायोफ्यूल नियम-2019’’ जारी करने के अवसर पर बायोफ्यूल के उत्पाद, विपणन व संवद्र्धन से जुडे़ उद्यमियों और सम्बन्धित विभागों के अधिकारियोंं को सम्बोधित कर रहे थे।

Google Latest news, Google breaking news, Hindi News, National today news, Today trending news, Today news, Latest news, India latest news, ताजा खबर, मुख्य समाचार, बड़ी खबरें, आज की ताजा खबरें, Rajasthan becomes the first state, biofuel policy in Rajasthan, biofuel policy in Rajasthan latest news, biofuel latest news, biofuel viral video, how to use biofuel, biofuel rate, biofuel kaise sasta hai, biofuel vs Diesel, biofuel vs Petrol, Rajasthan becomes the first state in the country to implement biofuel policyश्री पायलट ने कहा कि समाज और देश की उन्नति एवं जनकल्याण के लिए जरूरी कदम उठाए जाने में देर नहीं की जानी चाहिए, इसी सोच के साथ 30 अप्रेल को भारत सरकार के नोटिफिकेशन के बाद तत्परता बरतते हुए देश में राजस्थान यह पॉलिसी लाने वाला पहला राज्य बना है।

उप मुख्यमंत्री ने कहा कि भारत में 82 प्रतिशत जीवाश्म ईंधन बाहर से आता है। यह देश की अर्थव्यवस्था और करदाताओं पर बड़ा भार है। हम बायोफ्यूल का उपयोग कर जीवाश्म ईंधन का जितना कम उपयोग करेंगे, उतनी ही पर्यावरण की रक्षा होगी व विदेशी मुद्रा बचेगी और रोजगार के अवसर बढ़ेंगे।
Google Latest news, Google breaking news, Hindi News, National today news, Today trending news, Today news, Latest news, India latest news, ताजा खबर, मुख्य समाचार, बड़ी खबरें, आज की ताजा खबरें, Rajasthan becomes the first state, biofuel policy in Rajasthan, biofuel policy in Rajasthan latest news, biofuel latest news, biofuel viral video, how to use biofuel, biofuel rate, biofuel kaise sasta hai, biofuel vs Diesel, biofuel vs Petrol, Rajasthan becomes the first state in the country to implement biofuel policyउन्होंने कहा व्यवहार में बदलाव लाकर ही ईंधन के उपभोग की आदतों में बदलाव संभव है। अभी प्रदेश में 1250 करोड़ लीटर जीवाश्म ईंधन काम लिया जा रहा है इसका मात्र 5 प्रतिशत ही जैव ईंधन काम लेना हो तो प्रदेश में 62 करोड़ लीटर जैव ईंधन का उत्पादन करना होगा। यह  प्रदेशवासियों के  हित में बहुत बड़ा अवसर है।
उन्होंने कहा कि हमें अब नौजवानों को नए प्रयोग कर एक मंच देना होगा। यह पॉलिसी भी ऎसा ही मंच प्रदान करती है, जिससे हजारों लोगों को रोजगार का मौका मिलेगा। नए आउटलेट खुल सकेंगे। इनका पंजीकरण होगा, इनका सर्टिफिकेशन भी होगा लेकिन इसमें ज्यादा से ज्यादा कमजोर वर्ग के लोगों, महिलाओं, सैनिकों की विधवाओं और दिव्यांगों को प्राथमिकता से मौका मिलना चाहिए।

Google Latest news, Google breaking news, Hindi News, National today news, Today trending news, Today news, Latest news, India latest news, ताजा खबर, मुख्य समाचार, बड़ी खबरें, आज की ताजा खबरें, Rajasthan becomes the first state, biofuel policy in Rajasthan, biofuel policy in Rajasthan latest news, biofuel latest news, biofuel viral video, how to use biofuel, biofuel rate, biofuel kaise sasta hai, biofuel vs Diesel, biofuel vs Petrol, Rajasthan becomes the first state in the country to implement biofuel policyउन्होंने कहा कि अभी डीजल में 20 प्रतिशत बायोफ्यूल मिलाया जा सकता है। राजस्थान सर्वाधिक क्षेत्रफल वाला राज्य है जहां जैव ईधन का उत्पादन बड़ी मात्रा मे संभव है। इसका उत्पादन, व्यवसाय एवं उपभोग सभी फायदेमंद है। इस पॉलिसी का सोशल मीडिया, समाचार पत्रों, विद्यार्थियों को प्रेरित कर ज्यादा से ज्यादा प्रचार किया जाना चाहिए।

परिवहन मंत्री प्रताप सिंह खाचरियावास ने कहा कि राजस्थान बायोफ्यूल प्राधिकरण ने प्रदेश में 3 करोड़ पौधे लगाए हैं जिनसे 1 लाख लीटर बायोडीजल मिलने लगा है। उन्होंने कहा कि राजस्थान राज्य पथ परिवहन निगम बड़ी मात्रा में बसों में डीजल का उपभोग करता है। रोडवेज में अधिकतम बायोडीजल के उपयोग के प्रयास किए जाएंगे। उन्होंने कहा कि सही समय पर उठाया सही कदम ही काम आता है बायोडीजल नीति 2019 भी एक ऎसा ही कदम है जिससे प्रदेश में रोजगार के नए अवसर खुलेंगे।
अतिरिक्त मुख्य सचिव, ग्रामीण विकास एवं पंचायती राज राजेश्वर सिंह ने कहा कि राज्य बायोडीजल पॉलिसी 2019 के जारी होने से प्रदेश में बायोडीजल का उत्पादन, विपणन व व्यापार विधिवत रूप से संभव हो सकेगा।
बायोडीजल एसोसिएशन ऑफ इंडिया के अध्यक्ष संदीप चतुर्वेदी ने कहा कि भारत दुनिया में एक तेजी से बढती अर्थव्यवस्था है लेकिन जीवाश्मीय ईंधन पर निर्भरता के कारण दूसरे देशों पर अत्यधिक निर्भरता बनी हुई है। धन्यवाद बायोफ्यूल प्रधिकरण के अध्यक्ष सुरेन्द्र सिंह राठौड़ ने ज्ञापित किया।
इस अवसर पर श्री पायलट एवं श्री खाचरियावास ने साइंस पार्क परिसर में करंज के पौधे रोपे व बायोडीजल के प्रति जनचेतना बढ़ाने के लिए स्कूली विद्यार्थियों व बायोफ्यूल से संचालित 30 वाहनों की रैली को हरी झण्डी दिखाकर रवाना किया।
इस अवसर पर शासन सचिव, विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी मुग्धा सिन्हा, निदेशक, विज्ञान एवं प्रौधोगिकी, बायोफ्यूल प्राधिकरण के मुख्य कार्यकारी अधिकारी सुरेन्द्र सिंह राठौड़, राजीविका की राज्य परियोजना प्रबंधक शमिला मल्होत्रा सहित ग्रामीण विकास विभाग, राजीविका, बायोफयूल प्राधिकरण के अधिकारी व स्वंयसेवी संगठनों के प्रतिनिधियों सहित अनेक गणमान्य नागरिक उपस्थित थे।
www.hellorajasthan.com की ख़बरें फेसबुकट्वीटर और सोशल मीडिया पर पाने के लिए हमें Follow करें.