युद्वाभ्यास शत्रुजीत 2016: सेना के जाबांज कर रहें दुश्मन के ठिकानेां पर कब्जा

2बीकानेर । भारत – पाकिस्तान अंर्तराष्ट्रीय सीमा से दूर रेतीले धेारों के बीच इस भीषण तपती गर्मी में सेना के जवान दिन रात दुश्मन के ठिकानेां पर कब्जा करने की रणनीति को सीखने का अभ्यास कर रहें है। इन दिनों महाजन स्थित फील्ड फायरिंग रेंज में सेना के अह्म युद्वाभ्यास शत्रुजीत2016 में स्ट्राइक कोर 1 के जाबांज दिन रात अभ्यास में तकनीकी व अग्रणीय कब्जा करने का अभ्यास कर रहें है। सेना प्रमुख दलबीर सिंह सुहाग इस सैन्य अभ्यास के अंतिम चरण का निरीक्षण भी करेंगे।

सूत्र बतातें है कि शत्रुजीत 2016 में कृत्रिम आणविक, जैविक और रसायनिक युद्ध क्षेत्र वाले माहौल में कई बख्तरबंद वाहनों, तोपों और सैनिकों को उच्च स्तरीय ऑपरेशन में लगाया गया है। यह सैन्य अभ्यास मथुरा बेस की वन कार्प्स के मार्गदर्शन में हो रहा है, जो सेना की तीन प्रमुख हमलावार कार्प्स में से एक है।युद्वाभ्यास शत्रुजीत 2016: सेना के जाबांज कर रहें दुश्मन के ठिकानेां  पर कब्जा 1

सूत्र बतातें है कि भारतीय सेना की स्ट्राईक कोर 1 के जवानेां व अधिाकरियेां के द्वारा भीषण गर्मी के मौमस में करीब एक माह से अधिक समय तक चलने वाले युद्वाभ्यास में दिन और रात दुश्मन के ठिकानेंा पर कब्जा करने के नए नए तरीकों को आजमाया जा रहा है।
स्ट्राइक कोर 1 के जाबांज जवान व अधिकारी दुश्मन देश के  ठिकानेां को कब्जा कर ध्वस्त करन और उस पर अपना कब्जा करने का अभ्यास इस भीषण गर्मी में मुख्य रुप से कर रहे है। इस अभियान में सेना की उस क्षमता को परखना है, जिसमें वायु सेना और लंबी दूरी के तोपों की मदद से पहले हमला करने और फिर निरंतरता बनाए रखने की अत्यंत आक्रामक कौशल शामिल है। इससे पूर्व दिंसबर 2015 में स्ट्राइक कोर 21 ने सर्दी में यंहा पर युद्वाभ्यास किया था।