राजस्थान :चरित्रवान व योग्य युवाओं से ही देश विकसित हो सकता है-मेघवाल

0
राजस्थान :चरित्रवान व योग्य युवाओं से ही देश विकसित हो सकता है-मेघवाल 1बीकानेर। केन्द्रीय जल संसाधन राज्य मंत्री अर्जुनराम मेघवाल ने कहा कि चरित्रवान, संस्कारवान व योग्य युवाओं से ही देश विकसित राष्ट्रों की श्रेणी में खड़ा हो सकता है। मेघवाल रविवार को राजकीय महिला पाॅलिटेक्निक महाविद्यालय के सांस्कृतिक कार्यक्रम व पुरस्कार वितरण समारोह में मुख्य अतिथि के रूप में बोल रहे थे।
उन्होंने कहा कि युवा अपने लक्ष्य तय कर हौंसला मजबूत रखते हुए कार्य करें तो सफलता मिलना निश्चित है। केन्द्रीय मंत्री ने कहा कि तकनीकी शिक्षा युवाओं को रोजगार  दिलाने की दिशा में सबसे महत्वपूर्ण है। उन्होंने महिला पाॅलिटेक्निक काॅलेज में हुनर विकास के माध्यम से महिला सशक्तीकरण की दिशा में किए जा रहे कार्य की सराहना करते हुए यहां शिक्षा ग्रहण कर रही छात्राओं को अधिकाधिक रोजगार दिलाने के लिए स्किल इंडिया अभियान के तहत प्लेसमेंट कार्यक्रम आयोजित करवाने का आश्वासन दिया। मेघवाल ने पंडित दीनदयाल उपाध्याय की पुण्यतिथि पर उन्हें श्रद्धाजंलि दी। उन्होंने विभिन्न प्रतियोगिताओं की विजेता छात्राओं को बधाई दी और उन्हें मेहनत कर अपने लक्ष्य हासिल करने के लिए प्रेरित किया।
IMG_20180211_184104 इस अवसर पर विशिष्ट अतिथि के रूप में सत्यप्रकाश आचार्य ने कहा कि महाविद्यालय सृजनात्मक शिक्षा व स्वरोजगार की दिशा में अहम भूमिका निभा रहा है। काॅलेज द्वारा आयोजित प्रदर्शनी के माध्यम से छात्राओं को अपनी प्रतिभा दिखाने का अवसर मिला है। उन्होंने कहा कि यदि व्यक्ति हाथ का हुनर सीख लेता है तो उसका जीवन में सफलता प्राप्त कर लेना सुनिश्चत है। कार्यक्रम की अध्यक्षता करते हुए तकनीकी शिक्षा निदेशक दरिया सिंह यादव ने भी विचार रखे। इस अवसर पर काॅलेज की विभिन्न गतिविधियों पर आधारित पुस्तक उड़ान का विमोचन भी किया गया।
IMG_20180211_184918काॅलेज प्रधानाचार्य डाॅ संगीता सक्सेना ने अतिथियों का स्वागत किया और महाविद्यालय की प्रगति रिपोर्ट प्रस्तुत की।  इस अवसर पर मोहन सुराणा, काॅलेज व्याख्यता इन्दुबाला शर्मा, वीना शर्मा, दीप्ति कश्यप, रंजीत सिंह राठौड़, नीलम राजपुरोहित सहित बड़ी संख्या में काॅलेज छात्राएं और अभिभावक उपस्थित थे।
इससे पूर्व महाविद्यालय में आयोजित तीन दिवसीय प्रदर्शनी का समापन हुआ और महाविद्यालय के विभिन्न पाठ्यक्रमों की छात्राओं द्वारा तैयार विभिन्न उत्पादों का फैशन शो के माध्यम से प्रदर्शन किया गया।