बीकानेर: कोरोना संक्रमण रोकथाम के लिए हो समन्वित प्रयास-मीना

Bikaner: Coordinated efforts to prevent corona infection - Mina

बीकानेर (Bikaner News)। जिले के प्रभारी सचिव एन एल मीना ने कहा है कि कोरोना संक्रमण (Corona) रोकथाम के लिए प्रशासन, पुलिस, चिकित्सा सहित सभी सम्बंधित एजेंसियां समन्वित प्रयास करते हुए जन स्वास्थ्य की सुरक्षा सुनिश्चित करें।

मीना ने शनिवार को कलेक्ट्रेट सभागार में कोरोना संक्रमण स्थिति, उपचार व्यवस्थाएं और कोरोना जागरूकता अभियान की समीक्षा बैठक में यह निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि कम्युनिटी स्प्रैड की स्थिति से जिले को बचाने के लिए कांटेक्ट ट्रैसिंग पर विशेष ध्यान दिया जाना चाहिए। कोरोना मरीज के संपर्क में आया एक भी व्यक्ति जांच से छूटे नहीं। शहर के भीड़भाड़ वाले इलाकों में सोशल डिस्टेंसिंग सुनिश्चित करने के लिए अतिरिक्त प्रयास किए जाने की आवश्यकता है।

कोरोना के दौरान रक्षा बंधन सहित अन्य पर्व सावधानी से मनाएं

जागरूकता अभियान पर दें विशेष ध्यान
मीना ने कहा कि कोविड-19 (Covid-19) के चलते सामान्य गतिविधियां नहीं रोकी जा सकती और इस बीमारी का अब तक कोई इलाज नहीं खोजा जा सका है। इसके चलते बचाव ही इसका उपाय है। उन्होंने कहा कि सभी विभाग आईइसी गतिविधियों पर विशेष ध्यान दें। कैम्पेन मोड में जागरूकता गतिविधियां आयोजित की जाए। जागरूकता के साथ-साथ समझाइस करें और बार -बार समझाइश के बावजूद मास्क आदि नहीं लगाने वाले लोगों पर जुर्माना लगाएं। जिले के बाहर शादी और अन्य आयोजनों में शामिल होकर लौटने वाले लोगों का चिन्हीेकरण करते हुए उनकी जांच करवाई जाए। जिससे एक भी संक्रमित छूटे नहीं और जिले में कम्युनिटी स्प्रेड की स्थिति ना बने।

स्वयंसेवकों का लें सहयोग
मीना ने कहा कि कोरोना जागरूकता के लिए मोहल्ला विकास समितियों के साथ-साथ स्वयंसेवी संगठनों की मदद ली जाए। आम लोगों में संक्रमण से बचने की आदतें विकसित हों। राजकीय कार्यालयों और अन्य सार्वजनिक स्थानों पर साबुन से हाथ धोने की आदतें विकसित करें। जागरूकता के संदेश बार-बार देने से मनोवैज्ञानिक रूप से लोग बचाव उपाय अपनाने के लिए प्रेरित होते हैं। उन्होंने कहा कि सितंबर से मंदिर खोलने की संभावनाएं बन रही है, ऐसे में प्रशासन भीड़ आदि को नियंत्रित करने और सोशल डिस्टेसिंग सुनिश्चित करने के लिए अभी से रणनीति तैयार कर लें।

मेडिकल सुविधाओं को और अपग्रेड करें
प्रभारी सचिव ने कहा कि आने वाले समय में संक्रमण बढ़ने की संभावनाओं के मद्देनजर मेडिकल सुविधाओं को और अपडेट किया जाए ताकि किसी भी आपात स्थिति पर नियंत्रण रखा जा सके।
बैठक में संभागीय आयुक्त भंवरलाल मेहरा ने कहा कि कोरोना संक्रमण रोकथाम के लिए जिला प्रशासन और पुलिस द्वारा अच्छे प्रयास किए जा रहे हैं। गत एक माह में सैंपल साइज बढ़ाई गई है और इस कारण पॉजिटिव की संख्या में भी बढ़ोतरी हुई है। सैंपल साइज लगातार बढाए रखने की जरूरत है ताकि एक भी मरीज छूटे नहीं और यह संक्रमण आगे नहीं बढ़े। जिले में कोरोना जागरूकता अभियान चलाए जाने से आम लोगों में काफी अवेयरनेस आई है। इसे ध्यान में रखते हुए व्यापक स्तर पर आईईसी गतिविधियां चलाए जाने की जरूरत है।

झुग्गी-झोपड़ी के मेधावी छात्रों को सिविल सर्विसेज की कोचिंग देगा संघ का सेवा भारती

गत एक माह में जिले में हुई 40 हजार जांच
बैठक में जिला कलक्टर नमित मेहता ने बताया कि जिले में अब तक करीब 70 हजार सैंपल लिए जा चुके हैं, जिनमें से जुलाई माह में 40 हजार से अधिक सैंपलिंग की गई। अब तक 2 हजार 31 पॉजिटिव मरीज मिले हैं, जिनमें से 1498 पूरी तरह ठीक हो चुके हैं। जिले की रिकवरी रेट 73.71 प्रतिशत है तथा 46 लोगों की कोविड-19 से मृत्यु हुई है। उन्हांेने बताया कि न्यायालय की गाइडलाइन के अनुसार पीबीएम अस्पताल के कोविड केयर सेंटर में सीसीटीवी कैमरे लगा दिए गए हैं तथा सभी व्यवस्थाओं की नियमित निगरानी के लिए कमेटी गठित की गई है। यह कमेटी नियमित रूप से अस्पताल की व्यवस्थाओं का निरीक्षण कर रिपोर्ट दे रही है। कोविड-19 में हेल्प डेस्क भी चालू कर दी गई है, जिसके दूरभाष नम्बर 0151-2240100 हैं।

हैल्प डेस्क पर परिजनों की शिकायतों का निस्तारण नियमित रूप से किया जा रहा है। गंभीर मरीजों के इलाज के लिए प्लाज्मा थैरेपी शुरू कर दी गई है, जिले में कोविड केयर सेंटर में 1000 रोगियों तथा सुपर स्पेशलिटी सेंटर में 200 गंभीर रोगियों व एमसीएच विंग में 200 कोविड रोगियों के इलाज की व्यवस्था की गई है। जागरूकता अभियान के तहत शहरी और ग्रामीण क्षेत्रों में एवेयरनेस गतिविधियां भी नियमित रूप से चलाई जा रही है। उन्होंने बताया कि 2 हजार 31 रोगियों में 1 हजार 831 शहरी तथा 210 ग्रामीण क्षेत्र के कोरोना पाॅजिटिव रोगी शामिल हैं।

राजस्थान : हर ग्राम पंचायत पर लगेंगे ग्राम रक्षक

पुलिस अधीक्षक प्रहलाद सिंह कृष्णिया ने बताया कि कोरोना संक्रमण की रोकथाम के लिए आमजन का पुलिस के साथ पूरा सहयोग है। समझाइश आदि की कार्रवाई प्राथमिकता से की जा रही है और अंतिम उपाय के रूप में चालान काटा जा रहा है। अब तक 1 करोड़ रूपए से अधिक की जुर्माना राशि वसूल की जा चुकी है। कांटेक्ट टेªसिंग आदि के कार्य में पुलिस प्रशासन के साथ समन्वित रूप से काम कर रहा है।

संपर्क के लंबित प्रकरणों का हो प्राथमिकता से निस्तारण
प्रभारी सचिव मीना ने कहा कि संपर्क के पुराने प्रकरण प्राथमिकता से निस्तारित करते हुए आमजन को राहत दें। उन्होंने कहा कि 1 वर्ष पुराने मामलों में अधिकारी व्यक्तिगत रुचि लेते हुए प्राथमिकता से निस्तारित करवाएं।

मनरेगा (Nrega) के तहत आधार सीडिंग बढ़ाने के निर्देश देते हुए मीना ने कहा कि मनरेगा श्रमिकों को भुगतान समय हो तथा पीएमएवाई के तहत स्वीकृत किस्त लाभान्वित को दे दी जाए, जिससे उन्हें समय पर योजना का लाभ मिल सके। मीना ने कहा कि गरीब कल्याण योजना के तहत पात्र परिवारों को लाभ मिलना सुनिश्चित करें। इस योजना के तहत बाहर से आए परिवारों को प्राथमिकता से लाभ दिया जाए।

प्रभारी सचिव ने राशन वितरण की समीक्षा करते हुए कहा कि आवंटित गेहूं और दाल का पारदर्शी तरीके से वितरण सुनिश्चित किया जाए। राशन डीलरों के खिलाफ आने वाली शिकायतों की जांच कर प्रभावी कार्यवाही करें। बैठक में रसद अधिकारी यशवंत भाकर ने बताया कि जिले में अब तक 19 राशन डीलरों के लाइसेंस निलंबित किए जा चुके हैं। संभागीय आयुक्त ने कहा कि राज्य सरकार की मंशा के अनुरूप काम करते हुए यह सुनिश्चित करें कि एक भी व्यक्ति भूखा ना रहे।

मीना ने सार्वजनिक निर्माण विभाग के अधिकारी को निर्देश दिए कि पेचवर्क और सड़क निर्माण सहित सभी कार्यों में गुणवत्ता के मानदंडों पर किसी भी तरह की कोताही नहीं हो।

जिले के प्रभारी सचिव ने उद्योग विभाग के अधिकारियों से कहा कि कोरोना के बाद अगर स्थानीय व्यवसायियों और औद्योगिक इकाइयों के मजदूर बाहर चले गए हैं और अब उन्हें वापस बुलाना हो तो इसके लिए वे व्यापारियों से बातचीत कर उन्हें सहयोग प्रदान करें। उन्होंने नगर निगम के अधिकारियों से कहा कि संभावित वर्षा के दौरान अगर तेज बारिश होती है तो ऐसे में पानी की निकासी के पुख्ता बंदोबस्त अभी से कर ले, जो पंप और अन्य संसाधन है, उन सबकी पहले से ही ट्रायल कर लें।

मीना ने जोधपुर विद्युत वितरण निगम (Jodhpur vidyut vitran nigam limited)के अभियंता से कहा कि राज्य सरकार द्वारा जो विद्युत आपूर्ति के मानदंड निर्धारित किए गए हैं, उन्हीं मानदंडों के अनुसार विद्युत की आपूर्ति ग्रामीण क्षेत्रों में भी होनी चाहिए। साथ ही वर्षा के दौरान ट्रिपिंग ना हो इसके लिए अभी से बंदोबस्त करें। उन्होंने सभी अधिकारियों से कहा कि फ्लैगशिप योजनाओं की क्रियान्विति सुनिश्चित की जाए। एक भी पात्र व्यक्ति किसी भी योजना से वंचित ना रहे इसके लिए अधिकारी प्रभावी मॉनिटरिंग करेंगे।

बैठक में संभागीय आयुक्त बी.एल. मेहरा ने कहा कि वर्षा के दौरान जान माल की हानि न हो यह सुनिश्चित कर लिया जाए। उन्होंने शिक्षा विभाग के अधिकारी से कहा कि स्कूलों में भोजन सामग्री के वितरण के समय सोशल डिस्टेंसिंग का ध्यान रखा जाए, इसकी प्रभावी मॉनिटरिंग की जाए। उन्होंने नगर निगम के अधिकारी से कहा कि ऐसे कॉमन पैलेस जहां पर अधिक लोग आते जाते हों वहां दवा का छिड़काव बराबर करते रहें।

माध्यमिक शिक्षा विभाग के 124 सहायक प्रशासनिक अधिकारी हुए पदोन्नत

ये अधिकारी रहे उपस्थित
बैठक में अतिरिक्त जिला कलक्टर (शहर) सुनीता चौधरी, मुख्यकार्यकारी अधिकारी जिला परिषद नरेन्द्र पाल सिंह, प्रशिक्षु आई ए एस कनिष्क कटारिया, सहायक निदेशक लोक सेवाए सविना बिश्नोई, जिला रसद अधिकारी यशवंत भाकर, उप निदेशक महिला एवं बाल विकास विभाग शारदा चौधरी, अतिरिक्त प्राचार्य मेडिकल काॅलेज डा.एल.ए.गौरी, डाक्टर सुरेन्द्र वर्मा, डा बी.के.गुप्ता, सी एम एच ओ डा. बी एल मीना,अधीक्षण अभियंता जलदाय विभाग दीपक बंसल, उप निदेशक सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता विभाग एल डी पंवार, नगर विकास न्यास के अधीक्षण अभियंता संजय माथुर, उप निदेशक कृषि विस्तार जगदीश पूनिया सहित विभिन्न विभागों के अधिकारी उपस्थित थे।

हरियाणवी गाने ‘‘ तू चीज लाजवाब ’’ पर सपना चौधरी का धमाकेदार डांस वीडियो हुआ वायरल

www.hellorajasthan.com की ख़बरें फेसबुकट्वीटर और सोशल मीडिया पर पाने के लिए हमें Follow करें.