बोर्ड परीक्षाओं के दौरान बाधित नहीं हो विद्युत आपूर्ति-संभागीय आयुक्त

संभाग स्तरीय समीक्षा बैठक हुई आयोजित
बीकानेर(Bikaner News) । संभागीय आयुक्त सुवालाल ने कहा कि बोर्ड की परीक्षाओं के दौरान विद्युत आपूर्ति बाधित नहीं हो, इसका विशेष ध्यान रखा जाए। शिक्षा विभाग द्वारा विद्युत निगम को परीक्षा केन्द्रों की सूची एवं टाइमटेबल तथा विद्युत निगम द्वारा संबंधित अभियंताओं की सूची शिक्षा विभाग को उपलध करवाई जाए, जिससे किसी प्रकार की समस्या का आपसी समन्वय से तत्काल समाधान किया जा सके।

संभागीय आयुत गुरूवार को सीएडी सभागार में संभाग स्तरीय समीक्षा बैठक के पहले चरण की अध्यक्षता कर रहे थे। उन्होंने कहा कि मार्च में बोर्ड की परीक्षाएं प्रारम्भ होंगी। इस दौरान शहरी और ग्रामीण क्षेत्रों में विद्युत आपूर्ति को सर्वोच्च प्राथमिकता दी जाए, जिससे परीक्षार्थियों को किसी प्रकार की परेशानी नहीं हो। उन्होंने कहा कि निगम द्वारा उपभो€ताओं की समस्याओं के समाधान के लिए जनसुनवाई की प्रबोर्ड परीक्षाओं के दौरान बाधित नहीं हो विद्युत आपूर्ति-संभागीय आयुक्त 1भावी व्यवस्था हो। उपभो€ताओं के मीटर बदलने, विद्युत बिल दुरूस्त करने, तार करवाने और विद्युत पोल बदलने जैसी समस्याओं को प्राथमिकता से निस्तारण किया जाए।

संभागीय आयुक्त ने कहा कि मुख्यमंत्री विद्युत सुधार अभियान के तहत चयनित गांवों में विद्युत छीजत में कितनी कमी आई, इसकी सूचना उपलध करवाई जाए। जिला निष्पादन समिति और उपखण्ड स्तर पर आदर्श विद्यालयों की बैठक नियमित आयोजित करने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि इन बैठकों में मिशन मेरिट, शाला दर्पण एवं शाला दर्शन आदि की प्रगति समीक्षा की जाए।

चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग द्वारा मौसमी बीमारियों से निपटने के पुख्ता प्रबंध किए जाएं।
संभागीय आयुक्त ने कहा कि भामाशाह स्वास्थ्य बीमा योजना से संबद्घ किसी भी निजी अस्पताल में निर्धारित पैकेज में मरीजों से किसी प्रकार की शुल्क नहीं ली जाए, इसका विशेष ध्यान रखा जाए। इन अस्पतालों में इससे संबंधित स्लोग्न लिखवाने के निर्देश दिए।

उन्होंने कहा कि स्वास्थ्य मार्गदर्शकों को वार्डों में जाने के लिए निर्देशित किया जाए, जिससे सरकारी अस्पतालों में इस योजना का प्रभावी लाभ मिल सके। उन्होंने बालिका के जन्म पर पौधारोपण के अभियान की समीक्षा की तथा कहा कि सभी जिलों में इसे क्रियान्वित किया जाए।

सुवालाल ने कहा कि इसके लिए पूरे साल का रोड मैप बनाया जाए तथा अधिक से अधिक लोगों को इस अभियान से जोड़ा जाए। प्रत्येक माह के पांच एवं बीस तारीख को होने वाली ग्राम सभा की बैठकों मे बेटी के जन्म पर पौधारोपण किया जाए। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री जल स्वावलम्बन अभियान (शहरी) के लिए चयनित निकायों में 28 फरवरी तक कार्य प्रारम्भ किए जाएं।

उन्होंने घर-घर कचरा संग्रहण एवं इसके रिसाइलंग की स्थिति की समीक्षा की तथा कहा कि स्वच्छ भारत मिशन की गाइडलाइन के अनुसार आवश्यक संसाधन खरीदें जाएं तथा अभियान को मिशन मोड पर लिया जाए।
संभाDSC_0054गीय आयुक्त ने कहा कि आरयूआइडीपी एवं अमृत योजना की समीक्षा के लिए जिला एवं निकाय स्तर पर पाक्षिक बैठकें हों। प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के तहत बीमित किसानों को खराब होने की स्थिति में नॉम्र्स के अनुसार सहायता समयबद्घ उपलŽध करवाने के निर्देश दिए। उन्होंने पीपीपी मॉडल पर स्थापित मृदा कार्ड लेबोरेट्री के माध्यम से मृदा के नमूने लेने और उनके परीक्षण की स्थिति जानी तथा इसमें गति लाने के निर्देश दिए।

उन्होंने श्रमिक कल्याण योजना के तहत श्रमिकों के पंजीयन को प्राथमिकता देने को कहा। उन्होंने कहा कि अधिक से अधिक श्रमिकों को इन योजनाओं का लाभ मिले।

बैठक मे मुख्यमंत्री राजश्री योजना, आदर्श पीएचसी, प्रधानमंत्री मातृ सुरक्षा अभियान, मेडिकल रिलीफ सोसायटी की बैठकें आयोजित करने, दीनदयाल उपाध्याय ग्रामीण विद्युत योजना, शहरी क्षेत्रों में पॉलीथीन मुिक्त के प्रयास सहित विभिन्न बिंदुओं पर विचार विमर्श किया गया। बैठक में बीकानेर के जिला कलक्टर वेदप्रकाश, श्रीगंगानगर के जिला कलक्टर ज्ञानाराम, हनुमानगढ़ के जिला कलक्टर प्रकाश राजपुरोहित, अतिरिक्त संभागीय आयुक्त डॉ. राकेश शर्मा, चूरू जिला परिषद के मुख्य कार्यकारी अधिकारी महेन्द्र लोढ़ा सहित विभिन्न विभागों के अधिकारी मौजूद थे।