साइंस संकाय के स्टूडेंट्स एवं शोधकर्ता के लिए रिसर्च मेथोडोलॉजी पर वर्कशॉप शुरू

साइंस संकाय के स्टूडेंट्स एवं शोधकर्ता के लिए रिसर्च मेथोडोलॉजी पर वर्कशॉप शुरू 1जयपुर। द आई आई एस युनिवर्सिटी के सेंटर फॉर रिसर्च, इनोवेशन एंड ट्रेनिंग विभाग की ओर से सांइस संकाय के स्नातकोत्तर छात्र-छात्राओं एवं शोधकर्ताओं के लिए आयोजित रिसर्च मेथोडोलॉजी पर सात दिवसीय कार्यशाला शनिवार से शुरू हुई। वर्कशॉप के पहले दिन के फर्स्ट टेक्निकल सैशन में प्रो आर के बंसल एमेरिटस प्रोफेसर, डिपार्टमेंट ऑफ कैमिस्ट्री, द आई आई एस युनिवर्सिटी ने रिसर्च प्रॉब्लम फार्मूलेशन पर चर्चा की। इन्होंने बताया कि शोध प्रक्रिया शुरू करने से पहले सही रिसर्च प्रॉब्लम का चुनाव करना कितना आवश्यक होता है और किस तरह से यह आगे चलकर योजनाबद्ध तरीके से शोधकार्य करने में मददगार साबित होता है।
????????????????????????????????????वहीं कार्यशाला का दूसरा एवं तीसरा तकनीकी सत्र साहित्य की समीक्षा पर आधारित था जिसपर विस्तार से जानकारी देने के लिए मौजूद थे डॉ सतीश कुमार। इन दोनों सत्रों में रिसर्च में रिव्यू ऑफ लिट्रेचर की महत्ता पर प्रकाश डाला और बताया कि सफल रिसर्च के लिए सही ढ़ंग से शोध से जुड़े लिट्रेचर की खोज, ऑनलाइन डाटा इकठ्ठा करना तथा रेफरेंसेस को मैनेज करना बेहद ज़रूरी है।
इस सात दिवसीय वर्कशॉप के ज़रिए स्टूडेंट्स एवं रिसर्च स्कॉलर्स को शोध विधियां, शोध प्रक्रिया, शोध उपकरणों एवं तकनीकों का उपयोग, लेखन एवं प्रेज़ेंटेशन शैली आदि के बारे में विस्तार से अवगत करवाया जाएगा। इसी के साथ ही इस वर्कशॉप के ज़रिए प्रतिभागी शोध समस्या का निर्धारण, ई-जर्नल्स एवं रिसर्च आधारित वेबसाइट्स का उपयोग, उचित शोध तकनीकों का उपयोग, डाटा कलेक्शन तकनीक, प्लेजेरिज़म आदि के बारे में भी विस्तृत जानकारी दी जाएगी। इस वर्कशॉप का आयोजन सेंटर फॉर रिसर्च, इनोवेशन एवं ट्रेनिंग विभाग के डीन एवं डायरेक्टर डॉ सुभाष गर्ग की अध्यक्षता में किया जा रहा है। डॉ श्रिमोयी चैटर्जी इस वर्कशॉप की संयोजक हैं वहीं डॉ राधा कश्यप एवं आशीष तांबी आयोजन सचिव है।