प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत बने आवासों का होगा भौतिक सत्यापन

0
, Bikaner news, Bikaner latest news, India Hindi News, National today news, Today trending news, Today news, Google Latest News, Google Breaking news, Google News, Latest news, India latest news, ताजा खबर, मुख्य समाचार, बड़ी खबरें, आज की ताजा खबरें, pradhan mantri awas yojana, Prime Minister's Housing Scheme , pradhan mantri awas yojana latest news, pradhan mantri awas yojana breaking news, pradhan mantri awas yojana main kaise apply krein, pradhan mantri awas yojana in Bikaner, How to apply for pradhan mantri awas yojana,

बीकानेर। जिला कलक्टर कुमार पाल गौतम ने कहा कि जिले में प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत बने आवासों का भौतिक सत्यापन करवाया जायेगा। इसके लिए 3 व 4 अक्टूबर को विशेष अभियान चलाया जायेगा। जिला कलक्टर ने सोमवार को कलेक्ट्रेट सभागार में जिले में पानी-बिजली,सड़क एवं ग्रामीण विकास की योजनाओं की समीक्षा कर रहे थे।

उन्होंने मनरेगा एवं प्रधानमंत्री आवास योजना में श्रमिकों और निर्माण मद में खर्च हुई राशि के बारे में जानकारी ली और कहा कि पीएम आवास योजना में कितने आवास बन चुके है,उनकी किस्त जारी हुई या नहीं, इसका मौके पर भौतिक सत्यापन करवाया जायेगा। उन्होंने कहा कि 3 और 4 अक्टूबर को विशेष अभियान आयोजित कर,आवासों का भौतिक सत्यापन करवाया जाए। उन्होंने कहा कि आवास निर्माण किस स्टेज में है,उसकी जानकारी जुटाई जाए। उन्होंने कहा इस कार्य हेतु आवश्यकतानुसार अधिकारी व कार्मिक लगाए जाए।

जिला कलक्टर ने जिले में स्वास्थ्य सेवाओं की समीक्षा करते हुए मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी को निर्देश दिए कि मौसमी रोगों की रोकथाम प्रभावी ढ़ंग से की जाए। जिन क्षेत्रों में मलेरिया और डेंगू के रोगी चिन्हित होते हैं, उनमें आवश्यक कार्यवाही की जाए। उन्होंने कहा कि प्रभावित क्षेत्रों में फोगिंग करवाई जाए। साथ ही उन्होंने मौसमी रोगियों का घर-घर सर्वे करवाने और इस पर नज़र रखने के लिए निरीक्षण व्यवस्था को प्रभावी बनाने के निर्देश दिए। उन्हांेने कहा कि जब भी निरीक्षण करें, उसका कार्यक्रम जारी करते हुए उसकी सूचना प्रशासनिक अधिकारियों को दी जाए ताकि अधिकारी औचक जांच कर सके। उन्होंने कहा कि मौसमी रोगों से बचाव के बारे में आमजन को जागरूक किया जाए। उन्होंने गांधी जयन्ती पर आयोजित 2 अक्टूबर को आयोजित रक्तदान शिविर के बारे में व्यवस्था बाबत जानकारी ली और कहा कि रक्तदान से पहले ब्लड देने वालों की आवश्यक जांच की जाए। उन्होंने कहा कि रक्तदान केन्द्रों पर चिकित्सकों की टीम लगाई जाए, ताकि तबीयत खराब होने की स्थिति में उपचार किया जा सके।

जिला कलक्टर ने नगर विकास न्यास द्वारा करवाए जा रहे कार्यों की माॅनिटरिंग के निर्देश दिए और कहा कि जो अभियन्ता विकास कार्यों के प्रति गंभीर नहीं है, उन्हें हटा दिया जाए। उन्होंने शहर को सुन्दर बनाने पर जोर दिया और निगम और यूआईटी अधिकारियों को शहर का नियमित भ्रमण के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि भ्रमण के दौरान यह देखा जाए कि सहायक अभियन्ता और कनिष्ठ अभियन्ता अपने कार्य स्थल पर मौजूद है या नहीं। उन्होंने शहर में सड़क किनारे उगे बबूल और कीकर की सफाई करवाने के निर्देश दिए।

जिला कलक्टर ने जिले में विद्युत तंत्र की समीक्षा के दौरान गांवों में बिजली के ढ़ीले तारों को कसवाने और बकाया घरेलू बिजली कनेक्शन जारी करने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि जिले के कुछ विद्यालयों में विद्युत के पोल खड़े है,उन्हें सिफ्ट करवाया जाए। उन्हांेने जन स्वास्थ्य अभियांत्रिकी विभाग के अधीक्षण अभियन्ता से कहा कि जिन जीएलआर की सफाई नहीं हुई है, उनकी सफाई शीघ्र करवाई जाए।

बैठक में नगर निगम आयुक्त प्रदीप के. गवांडे, नगर विकास न्यास की सचिव सुनीता चैधरी, अधीक्षण अभियन्ता जलदाय दीपक बंसल, मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डाॅ.बी.एल. मीना,उप निदेशक सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता विभाग एल.डी.पंवार,जिला शिक्षा अधिकारी उमाशंकर किराडू सहित विभिन्न विभागों के अधिकारी उपस्थित थे।

 

www.hellorajasthan.com की ख़बरेंफेसबुकट्वीटर और सोशल मीडिया पर पाने के लिए हमें Follow करें.