राज्य में प्रयोगशाला सहायक के 1716 पदों पर होगी भर्ती

विद्यालयों में विज्ञान विषय की पढ़ाई को मिलेगा प्रोत्साहन, नामांकन में होगी वृद्धि
प्रदेष में 23 वर्षों के बाद प्रयोगशाला सहायक भर्ती की हुई ऐतिहासिक पहल
जयपुर। शिक्षा विभाग में प्रयोगशाला सहायक के 1716 पदों पर भर्ती की जाएगी। राज्य में  23 वर्षो के बाद लैब असिस्टेंट के रिक्त पदों को भरने की यह ऐतिहासिक पहल है।
शिक्षा राज्य मंत्री प्रो. वासुदेव देवनानी ने बताया कि लैब अस्टिटेन्ट के इन पदों पर भर्ती के लिए वित विभाग ने स्वीकृति प्रदान की है। उन्होंने बताया कि प्रदेश में इतनी बड़ी संख्या में प्रयोगशाला सहायकों की भर्ती से प्रदेश के विद्यालयोंमें विज्ञान की पढ़ाई को विशेष रूप से प्रोत्साहन मिलेगा। उन्होंने बताया कि स्वीकृत पदों पर शीघ्र ही विज्ञप्ति जारी कर भर्ती की प्रक्रिया प्रारंभ की जाएगी।
प्रो. देवनानी ने बताया कि राज्य में वर्ष 1993 के बाद से प्रयोगशाला सहायकों की भर्ती नहीं हुई थी। इसके कारण विद्यालयों में विज्ञान विषय के अध्ययन-अध्यापन में बहुत से स्तरों पर समस्या का सामना करना पड़ रहा था। उन्होंने बताया कि प्रयोगशाला सहायक पदों की रिक्तियो के कारण इस समय राज्य में विज्ञान विषय से संबंधित प्रयोगशालाओं में लैब असिस्टेंट का कार्य अध्यापकों अथवा अन्य कर्मियों द्वारा किया जाता था। इस दृष्टि से भर्ती की यह पहल विज्ञान विषय की पढ़ाई के लिए बड़ी उपलब्धी है। उन्होंने बताया कि इस भर्ती से प्रदेश में राजकीय विद्यालयों में विज्ञान शिक्षा को और अधिक बेहतर ढंग से क्रियान्वित किया जा सकेगा। इससे राजकीय विद्यालयों में नामांकन में भी वृद्धि होगी।
शिक्षा राज्य मंत्री ने बताया कि प्रयोगशाला सहायक पदों की इस भर्ती के बाद राज्य में इस विषयक रिक्तियां नगण्य रह जाएगी। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार का यह प्रयास है कि शिक्षा  क्षेत्र में किसी भी स्तर पर रिक्तियो के कारण विद्यालयों में बच्चों की पढ़ाई बाधित नहीं हो। उन्होंने बताया कि इससे पहले पुस्तकालयाध्यक्ष के 562 पदों पर को भरे जाने की भी पहल की गई है।