एलआईसी की बीमा राशि पर जीएसटी में मिले छूट : एमएल सोनी

0

-कर्मचारी संगठन सांसदों के जरिए सदन में उठवाएंगे मुद्दा

-एनएफआईएफडब्ल्यूआई के जोनल अध्यक्ष सोनी का हुआ स्वागत

जयपुर। भारतीय जीवन बीमा निगम (Life Insurance Corporation -Insurance company) की नेशनल फेडरेशन ऑफ इंश्योरैंस फील्ड वर्कर्स ऑफ इंडिया के अमृतसर में हुए द्विवार्षिक अधिवेशन में जयपुर के एमएल सोनी को निर्विरोध अध्यक्ष चुना गया है। लगातार दूसरी बार जोनल अध्यक्ष बनने के बाद जयपुर पहुंचे एमएल सोनी का गुरुवार को एलआईसी  के मण्डल कार्यालय जीवन प्रकाश में भव्य स्वागत किया गया। इस मौके पर मीडिया से बातचीत करते हुए नवनिर्वाचित जोनल अध्यक्ष एमएल सोनी ने बीमा सेवाओं पर जीएसटी का प्रावधान का विरोध किया।

उन्होंने कहा कि देशभर के सांसदों के जरिए सदन में मामला उठाने के लिए उन्हें फेडरेशन की ओर से प्रस्ताव भिजवाये जाएंगे। एमएल सोनी ने कहा कि बीमा एक व्यक्ति अपनी सामाजिक सुरक्षा व आर्थिक बचत के लिए करता है उस पर जीएसटी लगने से उस पर बोझ पड़ता है। बैंकों की एफडी पर जीएसटी नहीं है। इसी प्रकार सरकार ने एक करोड़ रूपए तक व्यापार करने वालों को जीएसटी से बाहर रखा है  लेकिन बीमा राशि पर जीएसटी लगाना सरकार की दोहरी नीति है।

एलआईसी के निजीकरण की आशंका जताते हुए एमएल सोनी ने कहा कि केंद्र सरकार को एलआईसी के ढांचे के साथ कोई भी छेड़छाड़ नहीं करनी चाहिए अगर एलआईसी के साथ छेड़छाड़ कर निजीकरण करती है तो उससे निश्चित रूप से देश की जीडीपी प्रभावित होगी। साोनी ने कहा कि एलआईसी के 28 करोड़ पॉलिसी धारक तथा 30 लाख करोड़ की परिसंपत्तियां है। लगभग 28 लाख करोड़ रुपये का लाइफ  फंड है जिस पर उद्योगपतियों की नजर है। बीमा क्षेत्र में निजी कंपनियों होने के बावजूद भी एलआईसी का मार्केट शेयर 75 प्रतिशत है। एलआईसी का 80 फीसदी लाइफ फंड का निवेश सरकारी परिसंपत्तियों में है, बावजूद इसके सरकार इसके निजीकरण की ओर कदम बढ़ा रही है। साथ ही उन्होंने सरकार पेंशन पॉलिसीधारकों को भी सेक्शन 80 के तहत इनकम टैक्स में छूट देने तथा विकास अधिकारियों की सम्पूर्ण जॉब सिक्योरिटी देने की मांग की।

इन संगठनों ने किया सम्मान

नेशनल फेडरेशन ऑफ इंश्योरैंस फील्ड वर्कर्स ऑफ इंडिया (एनएफआईएफडब्ल्यूआई) की जयपुर प्रथम इकाई के मंडलीय सचिव एनके गुप्ता ने बताया कि अभिनंदन समारोह में एमएल सोनी का अधिकारियों, विभिन्न यूनियनों के पदाधिकारियों व कर्मचारियों ने फूल-मालाएं पहनाकर, लड्डु खिलाकर, साफा पहनाकर तथा केक काटकर उनका स्वागत किया। स्वागत समारोह में एलआईसी कॉ-ऑपरेटिव सोसाइटी के अध्यक्ष प्रेमराज शर्मा, नॉर्दन जोन इंश्योरेंस एम्लाइज एसोसिएशन (एनजैडआईईए) के अध्यक्ष आरसी शर्मा, डिविजनल सचिव पीके सेठी, नॉर्दन जोन इंश्योरेंस एम्लाइज फैडरेशन के अध्यक्ष राजावत, एनएफआईएफडब्ल्यूआई के जयपुर मण्डल के अध्यक्ष आरपी यादव, क्लास वन ऑफिसर्स एसोसिएशन के एसआर शर्मा, राजेश सोनी, संतोष शर्मा, इंश्योरेंस पैंशनर्स एसोसिएशन के सचिव कामरेड सतीश खंडेलवाल, एससी/एसटी वेलफेयर एसोसिएशन के रामचंद्र मीणा, हनुमान सहाय दायमा,  एलआईसी स्पोट्र्स एवं कल्चरल क्लब के सचिव अनिल कूलवाल, डीके शर्मा व उपाध्यक्ष आर के जैन सहित विभिन्न कर्मचारी संगठनों के पदाधिकारी, प्रथम, द्वितीय व तृतीय श्रेणी के कर्मचारियों ने नवनिर्वाचित जोनल अध्यक्ष एमएल सोनी का भव्य अभिनंदन किया।

गौरतलब है कि एलआईसी के देशभर में कुल आठ जोन हैं। नॉर्दन जोन में दिल्ली, राजस्थान, पंजाब, हरियाणा, हिमाचल प्रदेश, जम्मू-कश्मीर, लद्दाख की 450 शाखाएं हैं। राजस्थान की 135 शाखाओं के प्रतिनिधियों ने अमृतसर में हुए अधिवेशन में हिस्सा लिया।

एमएल सोनी का राजनैतिक सफर

संगठन प्रवक्ता सुधीर जैन ने बताया कि एलआईसी के नॉर्दन जोन के निर्विरोध अध्यक्ष बने एमएल सोनी का कर्मचारी संगठनों में लंबा राजनैतिक अनुभव रहा है। पिछली बार एमएल सोनी कड़े मुकाबले में करीब 45 वोटों के अंतर से जोनल अध्यक्ष निर्वाचित हुए थे। इससे पहले वे 25 साल तक जयपुर डिविजनल सचिव रहे हैं।

अमेजन इंडिया पर आज का शानदार ऑफर देखें , घर बैठे सामान मंगवाए  : Click Here

www.hellorajasthan.com की ख़बरें फेसबुकट्वीटर और सोशल मीडिया पर पाने के लिए हमें Follow करें.