राजस्थान: अब इन 25 रेलवे स्टेशनों पर मिलेगी कुल्हड़ में चाय

0
Kullahad wali Chai, Kullahad Tea, Ajmer, Jaipur , Bikaner railway stations, Jaipur railway stations, Indian railway, IRCTC, Kulhad Tea available at 25 railway station in Rajasthan, Railway stations, Kulhad Chai Soon in Rajasthan , Kulhad Chai, How to make Kulhad Chai,

नई दिल्ली/ जयपुर/ बीकानेर । राजस्थान के रेलवे स्टेशनेां (Rajasthan Railway stations ) पर अब मिट्टी के बने कप ( Kulhad Chai) में चाय पीने का आप आनंद ले सकेंगे। इसके लिए केंद्रीय सूक्ष्म, लघु और मध्यम उद्यम मंत्रालय ने ये घोषणा की है कि राजस्थान के बीकानेर सहित 25 रेलवे स्टेशनों पर प्लास्टिक के कपों को बदले अब कुल्हड़ (मिट्टी का कप) में चाय मिलेगा। रेलवे बोर्ड ने स्टेशन परिसर, ट्रेनों और अपने अन्य संस्थानों को प्लास्टिक फ्री बनाने का संकल्प लिया है।

उत्तर-पश्चिम रेलवे ने अपने सभी मंडल अधिकारियों को निर्देश दिया है कि वह रेलवे स्टेशनों पर पर्यावरण अनुकूल खानपान उत्पादों का उपयोग सुनिश्चित करने के लिए जरूरी कदम उठाएं।

इन 25 स्टेशनों में बीकानेर, जयपुर, सिरसा, भिवानी, हनुमानगढ़, श्रीगंगानगर, हिसार, चुरू, सूरतगढ़, जोधपुर, पाली, बाड़मेर, नागपुर, जैसलमेर, भगत की कोठी, लूणी, झुंझुनू, दौसा, गांधीनगर, दुर्गापुर, सीकर, अजमेर, उदयपुर, सिरोही रोड और आबू रोड शामिल हैं. इससे पहले सूक्ष्म, लघु और मध्यम उद्योग (एमएसएमई) मंत्री नितिन गडकरी के अनुरोध पर रेलमंत्री पीयूष गोयल ने रेलवे बोर्ड को इस संबंध में निर्देश जारी किए थे।

इसके बाद रेलवे बोर्ड ने नौ सितंबर को देशभर के जोनल रेलवे के सभी प्रधान मुख्य वाणिज्यिक प्रबंधकों और आईआरसीटीसी के चेयरमैन एवं प्रबंध निदेशक को इस संबंध में निर्देश जारी किए थे। अभी वाराणसी और रायबरेली रेलवे स्टेशनों पर पहले से मिट्टी के कुल्हड़ों का इस्तेमाल हो रहा है. रेलवे ने देशभर के 400 स्टेशनों पर कुल्हड़ के उपयोग का निर्णय किया है।


केवीआईसी के चेयरमैन विनय कुमार सक्सेना ने बताया कि रेलवे की इस पहल से उत्साहित आयोग कुम्हारों के बीच 30,000 इलेक्ट्रिक चाक का वितरण करने का फैसला किया है। साथ ही मिट्टी के बने सामानों को पुनर्चक्रमण और नष्ट करने के लिये मशीन (ग्राइंडिंग मशीन) भी उपलब्ध कराएगा। कुमार ने कहा कि हम इस साल 30,000 इलेक्ट्रिक चाक दे रहे हैं। इससे रोजाना दो करोड़ कुल्हड़ और मिट्टी के सामान बनाये जा सकते हैं। प्रक्रिया अगले 15 दिनों में शुरू हो जानी चाहिए।

अमेजन इंडिया पर आज का शानदार ऑफर देखें , घर बैठे सामान मंगवाए  : Click Here

www.hellorajasthan.com की ख़बरें फेसबुकट्वीटर और सोशल मीडिया पर पाने के लिए हमें Follow करें.